9+ प्रेरणादायक बॉलीवुड डायलॉग | Motivational Dialogues


Motivational Dialogues in Hindi : सफल लोगों के अंदर एक ख़ास बात यह होती है कि वह सीखना कभी नहीं छोड़ते। कहा जाता है कि “सीखने वालों के लिए पूरी दुनिया ही स्कूल है और हर शख्स शिक्षक है।”

Contents
hide
1
Motivational Bollywood Movie Dialogues & Quotes in Hindi

1.1
1.”दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं विनर और लूजर…लेकिन जिंदगी हर लूजर को एक मौका जरूर देती है जिसमें वह विनर बन सकता है। – शाहरुख खान, हैप्पी न्यू ईयर

1.2
2. शेर जब दो कदम पीछे लेता है तो झपटने के लिए, न ही डर के, समझें न! – अक्षय कुमार, राउडी राठौर

1.3
3. “जिंदगी जीने के दो ही तरीके है एक जो हो रहा है उसे होने दो और दूसरा जिम्मेदारी उठाओ उस बदलने की।” – आमिर खान, रंग दे बसंती

1.4
4. “मैं सिर्फ इतना जानता हूँ, कोई तुम्हें तब तक नहीं हरा सकता, जब तक तुम खुद से ना हार जाओ।” – सलमान खान, सुल्तान

1.5
5. “विश्वास और घमंड में बहुत कम फर्क नहीं है। मैं कर सकता हूँ, ये मेरा विश्वास है, सिर्फ मैं ही कर सकता हूं, ये मेरा घमंड। – आमिर खान, गजनी

1.6
6. “भगवान के भरोसे मत बैठिए…… क्या पता भगवान हमारे भरोसे बैठा हो।” – दशरथ मॉझी, ‘मांझी- द माउंटेन मैन’

1.7
7. “चूल्हे से रोटी निकलने के लिए चिमटे का मुंह जलाना पड़ता है।” – आमिर खान, लगान

1.8
8. “कभी-कभी गलत ट्रेन भी हमें सही स्टेशन पर ले जाती है।” – इरफान खान, लंच बॉक्स

1.9
9. “लाइफ में कितना भी ट्राई क्यों करो, कुछ ना कुछ तो छूटेगा ही, तो जहां हो वहीं का मजा लेते हैं।” – दीपिका पादुकोण, ये जवानी है दीवानी

1.10
10. “काबिल बनो कामयाबी तुम्हारे पीछे झक मार के आयेगी।” – 3 इडियट्स, आमिर खान

सीखने की ललक और जज्बा हो तो हर चीज हमें सिखाती है। उड़ती हुई चिड़ियां, ऊंचे पर्वत, मचलता सागर, यह जमीन, यह आसमान, यहाँ तक की जमीन पर पड़ी बिना मतलब की चीजें, सब में कुछ न कुछ learning छिपी रहती है।

motivational dialogues hindi
Motivational Dialogues

अगर हम हर चीज को सीखने की नजर से देखें तो हमें हर चीज सिखाती है, कोई भी चीज हमें फालतू और बिना मतलब के नहीं लगेगी, कोई भी चीज टाइमपास नहीं लगेगी

हमारे घर वाले, हमारे शिक्षक सभी यही कहते हैं कि फिल्में मत देखो, अपना टाइम दूसरे चीजों पर लगाओ, अपना Time सही जगह पर invest करो।

हमारे समाज की तगड़ी कंडीशनिंग है जो यह मानती है कि फिल्में देखना टाइम पास है और समय की बरबादी है। मेरे अनुसार “फिल्में मत देखो” की जगह पर कहना चाहिए कि “अच्छी फिल्में देखो”

हमारे बॉलीवुड फिल्मी इतिहास में कई ऐसी फिल्में बनी है जो Learning और Motivation से लबरेज हैं। भारत में बहुत सी ऐसी Movies बनी जिनमे जबरदस्त Motivational Dialogues हैं।

कुछ Bollywood Dialogues तो ऐसे हैं जिन पर यदि अमल किया जाये तो वह हमारी लाइफ बदल सकते हैं।

मोटिवेशनल स्पीकर उज्जवल पाटनी कहते हैं :- 

“साथियों, लोग समझते है कि मैं ख़ाली समय में कुछ किताबें पढ़ता हूँ, सेमिनार attend करता हूँ, जबकि हकीकत यह है कि मैं ख़ाली समय में फिल्में देखना पसंद करता हूँ, अच्छी फिल्में। और उन फिल्मों से जो learning मिलती है, उसी learning को मैं अपने सेमिनारों में लोगों के साथ शेयर करता हूँ।

तो कुछ समझे साथियों!!! यह जो खेल है, सब अपनी बुद्धि या सोच पर निर्भर करता है।

जैसे कहा जाता है कि चाकू न तो बुरा है और ना ही अच्छा है। चाकू तो सिर्फ चाकू है। अब यह हम पर निर्भर करता है कि हम चाकू का इस्तेमाल कैसे करते हैं। फल काटने में करते हैं या गला काटने में करते हैं

फिल्मों के साथ भी यही लोचा है कि आप फिल्में देख कर टाइम पास करते है या उनके Motivational Dialogues से कुछ learning लेकर अपने आप को अपडेट करते हैं और खुद को next level पर ले जाते हैं

Badabussiness.com के फाउंडर और सीईओ विवेक बिंद्रा भी अपनी थिंकिंग को winners की तरह करने के लिए Successful people पर बनी Biography देखने को कहते हैं

इसके साथ साथ विवेक बिंद्रा जी कुछ फिल्म भी recommend करते हैंजैसे:-“भाग मिल्खा भाग”, “नीरजा”, “मैरी कॉम”, “गांधी”, “जॉब्स” आदि।

इस तरह हम Bollywood Movie देखकर उनके Inspirational Dialogues से भी learning ले सकते हैं और अपने जीवन में क्रांतिकारी बदलाव कर सकते हैं।

इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए हम आज के आर्टिकल में लाए हैं कुछ मोटिवेशनल और learning से लबरेज प्रेरणादायक फिल्मी डायलॉग। (Motivational Dialogues)

Motivational Bollywood Movie Dialogues & Quotes in Hindi

यहाँ दिया गया एक एक डायलॉग अपने आप में पूरा learning का स्कूल है। तो आइये इस आर्टिकल को पढ़ते हैं और जीवन में इस Learning का उपयोग करते हैं–

1.”दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं विनर और लूजर…लेकिन जिंदगी हर लूजर को एक मौका जरूर देती है जिसमें वह विनर बन सकता है।शाहरुख खान, हैप्पी न्यू ईयर

वाह! क्या खूब बात की गयी है इस डायलॉग में। इस Motivational Dialogue में जिंदगी में कभी भी हार न मानने के बारे में बात की गई है

कहा जाता है कि जब आप give up करने वाले हो, तब one more try करना चाहिए, क्या पता जब आप give up करने वाले हो, तब आप मंजिल से एक ही स्टेप दूर हो।

जिंदगी में कभी हार मत मानो क्योंकि जिंदगी हर looser को winner बनने का एक मौका जरूर देती है।

अगर आप Businessman हैं और आप Business में लगातार घाटे से गुजर रहे हैं या फिर आप स्टूडेंट हैं और लगातार कम्पटीशन में फेल हो रहे हैं, तब यह बात जरूर ध्यान में रखें कि जिंदगी हर किसी को जीतने का एक मौका जरूर देती है।

मैदान मत छोड़िए, मैदान में डटे रहे, क्या पता किस गेंद पर सिक्स लग जाए और आप जीवन का मैच जीत जाएँ।

2. शेर जब दो कदम पीछे लेता है तो झपटने के लिए, न ही डर के, समझें न! – अक्षय कुमार, राउडी राठौर

यह डायलॉग लाइफ के कम्पटीशन के बारे में बहुत कुछ कहता है। पहला यह कि कभी सामने वालों को कम नहीं आंकना चाहिए।

इस डायलॉग से यह बात समझ आती है कि जब हमारा Competitor पीछे हो रहा हो, तब हमें यह बिल्कुल नहीं समझना चाहिए कि वह हमसे डर गया है या अब वह game give up करने वाला है। 

यह भी हो सकता है वो नयी रणनीति बनाने के लिए के लिए पीछे हो रहा हो और कुछ तैयारी करके वह फिर कमबैक कर सकता है। अतः हमें भी उस समय पूरी तरह तैयार रहना चाहिए।

दूसरा यह कि हम भी जब जीवन की रेस में लगातार आगे बढ़ रहे हों और कभी महसूस हो कि स्पीड कम हो रही है तब हमें अपना दो चार कदम पीछे हो जाना चाहिए।

और यही समय है जब हम खुद को बूस्ट करें और जब आगे बढ़ें तो स्पीड पहले से कई गुना हो चुकी हो।

यह भी सत्य है कि झूला जितना पीछे जाता है, उसमें आगे जाने का उतना ही पोटेंशियल आ जाता है।

गुलेल के डोरी को जितना पीछे खींचते है, उससे object उतना ही आगे तक जाता है।

3. “जिंदगी जीने के दो ही तरीके है एक जो हो रहा है उसे होने दो और दूसरा जिम्मेदारी उठाओ उस बदलने की।” – आमिर खान, रंग दे बसंती

मंगल पाण्डेय movie का यह Motivational Dialogue वैसे तो बहुत deep है, फिर भी इसे आसानी से समझने का प्रयास करते हैं।

हमारे आस पास कई ऐसे लोग हैं जो हमेशा किसी न किसी चीज का रोना रोते रहते हैं। हर बात पर उनका रोना शुरू हो जाता है।

नौकरी नहीं है, पैसा नहीं है, सरकार की नीतियां सही नहीं है, सरकार कुछ नहीं कर रही है, क्या करें अवसर ही नहीं मिल रहा कुछ करने का।

सिर्फ complain करते रहते हैं। ऐसे लोग हमेशा कुछ ना कुछ complain करते हैं लेकिन कभी भी आगे बढ़ कर खुद जिम्मेदारी नहीं उठाते हैं

हर इंसान को चाहिए कि लाइफ में कैसी भी प्रॉब्लम क्यों न हो, उस प्रॉब्लम से बाहर आने के लिए जिम्मेदारी उठानी ही चाहिए, बिना जिम्मेदारी उठाए हम situation को बदल ही नहीं सकते।

कितनी भी बड़ी प्रॉब्लम क्यों न हों, अगर आप उसे बदलने की Responsibility खुद ले लें तब आपको कोई रोक नहीं सकता।

4. “मैं सिर्फ इतना जानता हूँ, कोई तुम्हें तब तक नहीं हरा सकता, जब तक तुम खुद से ना हार जाओ।” – सलमान खान, सुल्तान

Inspiring Bollywood Dialogues में इस डायलॉग को Life changing माना जाता है। यह बात 100% सही है। एक पुरानी भी कहावत है, “मन के हारे हार है, मन के जीते जीत”.

कोई भी व्यक्ति मैदान में हारने से पहले मन में हार जाता है और मन ही मन नेगेटिव affirmation दोहराने लगता है।

सामने वाला ज्यादा ताकतवर है, वो मुझसे अच्छे दांव लगा रहा है, मैं उससे जीत नहीं सकता आदि बातें सोचकर वह मन से पहले ही हार मान लेता है। बाद में तो केवल बाहरी रूप से हार का सामना उसे करना होता है।

मैदान में वो हारे या ना हारे, लेकिन वो उससे पहले ही मन में हार गया है, उसके अंदर हारने वाली भावना आ गई।

जो मन से हरा हो न उसे हराना भी बहुत आसान होता है। वहीं को मन में जीता रहता है, वो रण भी जीत लेता है।

 

5. “विश्वास और घमंड में बहुत कम फर्क नहीं है। मैं कर सकता हूँ, ये मेरा विश्वास है, सिर्फ मैं ही कर सकता हूं, ये मेरा घमंड। – आमिर खान, गजनी

बहुत से लोगों को यह वाला डायलॉग सुनते हुए यही लगता है कि यह तो सिर्फ शब्दों का खेल है। “मैं कर सकता हूँ।” और “सिर्फ मैं ही कर सकता हूँ।” इन दोनों वाक्यों में सिर्फ शब्दों का अंतर है वह भी एक दो शब्द।

लेकिन हमको समझना चाहिए कि हमारी माइंड की कंडीशनिंग इन शब्दों की ही वजह से हुई है और शब्द ही हमारे एक्शन को डिसाइड करते है। बात सिर्फ शब्दों की होती तो एक मोटिवेशनल कंटेंट और एक गालियों वाले कंटेंट में कुछ ज्यादा का अंतर नहीं होता।

इन दोनों प्रकार के कंटेंट में शब्द ही तो होते हैं लेकिन इन दोनों के बीच का अंतर और मतलब हमारे दिमाग में अलग अलग तरह के विचार पैदा करता है।

जब बात विश्वास की आती है तो विश्वास हमें आगे ले जाता है और हमें यह सिखाता है कि अपने काम में progress कैसे करना है।

और घमंड हमें यह बतलाता है कि मेरे सिवा कोई इस काम को कोई कर ही नहीं सकता, तो मुझे कुछ और एक्स्ट्रा करने और सीखने की जरूरत ही नहीं। वहीँ से उनका पतन भी शुरू हो जाता है।

6. “भगवान के भरोसे मत बैठिए…… क्या पता भगवान हमारे भरोसे बैठा हो।” – दशरथ मॉझी, ‘मांझी- द माउंटेन मैन’

वाह! क्या बात कही गई है। बेहतरीन Motivational Dialogues बोला गया है। ईश्वर ने सभी रिसोर्स हमारे चारों ओर दिए हुए हैं। कुछ भी सोचने और करने की इंसान को पूरी स्वतंत्रता दे रखी है।

अब यह इंसान के ऊपर है कि वह इन रिसोर्स को, अपनी सोच को किस तरह के एक्शन में बदलता है।

अक्सर इंसान के साथ दिक्कत यह आती है कि वह सब कुछ जादू की तरह होता देखना चाहता है लेकिन बड़ा सोचकर किसी बड़े काम को रियलिटी में खुद बदलना नहीं चाहता।

अधिकतर लोगों को बड़ा सोचने की हिम्मत नहीं होती तो बड़ा करना तो उनकी बस की बात ही नहीं है।

किसके भरोसे बैठे हैं ऐसे लोग? ईश्वर के? कि कोई चमत्कार होगा और जादू की तरह सफलता, पैसा, वाहवाही मिल जाएगी।

सच तो यह है कि ईश्वर ने हमें बड़ा सोचने और बड़ा करने के सभी टूल दिए हैं और वह अब इंसान के भरोसे है कि कब इंसान इन सभी टूल्स का उपयोग करके खुद को महामानव बना लेगा।

अरे! यदि आपकी मंजिल 5 कदम दूर है तो दो कदम तो चलो, बाकी तीन कदम चलने ही हिम्मत ईश्वर आपको खुद प्रदान कर देगा।

आप अपनी मानसिक और शारीरिक शक्तियों द्वारा इतनी बड़ी सफलता और पैसा हासिल कर सकते हो जो दूसरों के लिए जादू जैसा ही लगे।

तो आप यह जादू कैसे कर सकते हो? इसे जानने के लिए आपको यह किताब आज ही जरूर पढ़नी चाहिए–

जादू (The Magic)

7. “चूल्हे से रोटी निकलने के लिए चिमटे का मुंह जलाना पड़ता है।” – आमिर खान, लगान

कई बार हम ऐसे सोचते हैं- अरे यार ये तो मुश्किल है, ये तो हार्ड है, जब इतने लोगों से नहीं हुआ तो हम कैसे कर सकते हैं और हार मान लेते हैं। तो उनके लिए ही यह डायलॉग है।

कोई भी सफलता पाने के लिए हमें उतनी ही ऊर्जा खर्च करनी होती है, उतना ही Hard Work करना होता है जितनी बड़ी सफलता हम प्राप्त करना चाहते हैं।

यह Movie Dialogue हमें रिस्क लेना सिखाता है। लाइफ में कुछ करना है तो रिस्क लीजिए। जब तक जलना और तपना नहीं सीखोगे तब तक कुछ उखाड़ नहीं पाओगे।

जितना बड़ा लक्ष्य होगा, आपको उतना ही तपना होगा। जीवन में तपना सीखो और रिस्क लेना सीखो। कहते हैं न कि जीवन का सबसे बड़ा रिस्क कोई भी रिस्क न लेना है।

अब यदि भविष्य में सफलता को प्राप्त करना है तो आपको अपना आज जलाना होगा। रात को जब सब सोते हैं तो आपको जागना होगा और अपने सपनों के लिए कार्य करना होगा।

बिना तपे, बिना रिस्क लिए जीवन में कुछ भी अच्छा प्राप्त नहीं किया जा सकता।

8. “कभी-कभी गलत ट्रेन भी हमें सही स्टेशन पर ले जाती है।” – इरफान खान, लंच बॉक्स

Motivational Dialogues की लिस्ट में यह एक लाइफ चेंजिंग डायलॉग है। कभी-कभी जिंदगी में ऐसे भी कई मोड़ आते हैं, जो हमें वो सारा दे जाते हैं जिसकी हम कल्पना भी नहीं की होती है कि यहां से हमें यह चीज मिलेगा।

अचानक से लाइफ में ऐसे लोग मिल जाते हैं, जुड़ जाते हैं जिनका लाइफ में होना हमें अच्छा लगता लेकिन वही हमें उस मुकाम तक ले जाते हैं जहां हम पहुंचना चाहते हैं।

यह सब बहुत unexpected तरीके से होता है। असल में ट्रेन सही होती है लेकिन हमें गलत लगती है। जीवन में बहुत से अच्छे अवसर हमें ऐसे रास्ते पर चलने से मिल जाते हैं जिन्हें हम गलत समझते हैं।

हमें कुछ ना कुछ जरूर करते रहना चाहिए, क्या पता कौन सी wrong train हमें सही स्टेशन पर उतार दें।

9. “लाइफ में कितना भी ट्राई क्यों करो, कुछ ना कुछ तो छूटेगा ही, तो जहां हो वहीं का मजा लेते हैं।” – दीपिका पादुकोण, ये जवानी है दीवानी

वाह! क्या बात कही गई है- हम कितना भी क्यों ना भागे, लाख ट्राई क्यों ना करें, कुछ तो छूट ही जाएगा। कुछ तो पीछे रह ही जाएगा, लेकिन उससे क्या होता है?

अब जो छूट गया, जो पीछे रह गया है, उसके लिए बैठ कर रोएंगे तो क्या हासिल होगा? कुछ नहीं।

चाहे या ना चाहे हमारे दिमाग में यह बात घर कर गई है कि हमेशा हमें कुछ ना कुछ हासिल करने की जरूरत होती है। जरुरत तो है लेकिन हमेशा हर चीज मिले और कम्पलीट मिले, यह जरुरी नहीं।

इसलिए हमें हमारे प्रयासों से जो मिला है उसका आनंद लेते हुए आगे बढ़ना चाहिए। अपने वर्तमान (Present Movement) के आनंद को कभी नहीं खोना चाहिए।

हम जहां हैं, जैसे हैं, जिस moment में हैं, उस moment का enjoy करें। क्योंकि हम जो कुछ भी कर रहे होते हैं, उसका motive केवल happiness ही होता है, आखिर इसके सिवा जीवन में और क्या रखा है!

10. “काबिल बनो कामयाबी तुम्हारे पीछे झक मार के आयेगी।” – 3 इडियट्स, आमिर खान

3 इडियट्स फिल्म का यह Motivational Dialogue आज के युवाओं को बहुत प्रेरित कर सकता है। हमारे स्कूल और कॉलेज में इस बात की training दी जाती है कि आपको पढ़ लिख कर किसी Multi national company में जॉब्स पाना है।

किसी सरकारी नौकरी में जाना है। बस यही सफलता है। हमारे लिए सफलता का यही मापदंड तय किया जाता है।

इन सबके बीच बच्चों को असल में काबिल बनाना अधिकतर लोग भूल जाते हैं। आपको नौकरी के लिए अपनी आधी जिंदगी किताबों का रट्टा नहीं मारना है बल्कि जीवन के हर क्षेत्र में काबिल बनना है।

Business हो, Relationship हो, पैसा कमाना हो या फिर खुद की हेल्थ या वेल्थ हो, यदि आप काबिल हो, आपमें Skills हैं इन सबको मैनेज करने की, तो आपको Real Success से कोई नहीं रोक सकता।

असल जिंदगी में एक काबिल इंसान अपनी काबिलियत के दम पर हर फील्ड, हर क्षेत्र में सफल हो सकता है, कामयाब हो सकता है।

कामयाबी पाने के लिए Positive Thinking बहुत जरुरी है। आइये आपको एक Book बताता हूँ जो आपकी सोच को पॉजिटिव बनाकर आपके करियर कामयाबी की ओर ले जाने में आपकी हेल्प करेगी।

इस Self Help Book का नाम पॉजिटिव थिंकिंग है जिसे नेपोलियन हिल और माइकल जे. रिट ने आपके लिए लिखा है।

इस किताब के बारे में अधिक जानकारी आप यहाँ से ले सकते हैं–

POSITIVE THINKING

————-*******———— 

दोस्तों! यह Motivational Bollywood Movie Dialogues in Hindi आपको कैसे लगे? यदि यह Bollywood Movie Quotes आपको अच्छे लगे तो आप इस Hindi Motivational Dialogues को Share कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें E.Mail भी कर सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें।

हमारी E.Mail Id है– [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने ब्लॉग पर Publish करेंगे। Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *