सीसीसी कोर्स (CCC Course) क्या है और कैसे करे?

आज हम इस आर्टिकल में आपको CCC Course के बारे में बताने जा रहे हैं। क्या आपने कभी सोचा है आखिर क्या है सीसीसी। यदि आपको इसके बारे में नहीं पता तो कोई बात नहीं, हम सीसीसी कंप्यूटर कोर्स के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं। वर्तमान में कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज होना बहुत जरुरी हो गया है क्योंकि आज लगभग हर काम कंप्यूटर के द्वारा ऑनलाइन किया जाता है। अगर देखा जाए तो आज टेक्नोलॉजी का टाइम है। सीसीसी, यह एक ऐसा कोर्स है जो NIELIT सरकारी संस्था के द्वारा संचालित किया जाता है। यदि आप भी सीसीसी कोर्स के बारे में जानना चाहते है जैसे, सीसीसी क्या है, सीसीसी कैसे करे, सीसीसी फुल फॉर्म, इसके लिए योग्यता, सिलेबस, फायदे और जॉब के अवसर आदि। तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के बाद आपको CCC के बारे में पूरी जानकारी हो जाएगी।

CCC course kaise kare

आज पूरा दौर डिजिटल हो गया है। अब हर काम ऑनलाइन कंप्यूटर के माध्यम से बड़ी आसानी और तेजी से होने लगे हैं। इसलिए, हर कोई कंप्यूटर सीखना चाहता है, इसके लिए वे किसी कंप्यूटर कोर्स करने के बारे में भी सोचते हैं।

लेकिन उन्हें पता नहीं होता है कि, कौनसा कंप्यूटर कोर्स करना करें। इसीलिए आज हम आपको सीसीसी के बारे में में बता रहे हैं। यह कोर्स कम्पूटर अवधारणा पर आधारित है।

आईये, इसके बारे में डिटेल्स से जानते हैं, जैसे, What is CCC, CCS full form, How to do CCC course in hindi etc.

विषय-सूची

  • सीसीसी क्या है? What is CCC in Hindi
  • CCC कोर्स कैसे करे? How to Do CCC Course in Hindi
    • सीसीसी के लिए योग्यता (Qualification for CCC)
    • सीसीसी कोर्स सिलेबस (CCC Syllabus)
    • सीसीसी के फायदे (Benefits of CCC)
    • सीसीसी कोर्स फीस (CCC Course Fees)
    • निष्कर्ष,

सीसीसी क्या है? What is CCC in Hindi

आपको बता दें, सीसीसी एक सर्टिफिकेट कोर्स होता है जिसे गवर्नमेंट संस्था (राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान) के द्वारा चलाया जाता है। यह कार्यक्रम इसी संसथान द्वारा आयोजित किया जाता है। इसके अंतर्गत कंप्यूटर और इंटरनेट को इस्तेमाल करने के लिए जानकारी प्रदान की जाती है जिसे सीखने के बाद आप कागजी तौर पर कंप्यूटर ऑपरेटर के नौकरी के लिए तैयार हो जाते है तथा सरकार का मकसद सीसीसी कोर्स कंप्यूटर के द्वारा छात्रों को जागरूक करना भी होता है।

सीसीसी कोर्स उन विद्यार्थियों के लिए भी बहुत जरुरी होता है जो सरकारी नौकरी करने की इच्छा रखते है क्योंकि इस समय में निकलने वाली सरकारी भर्तियां जैसे पटवारी, स्टेनोग्राफर, क्लर्क आदि जॉब के लिए इसका डिप्लोमा होना बहुत ज़रूरी होता है क्योंकि जरूरत पड़ने पर वो कंप्यूटर से भी काम कर सकते है आज का जमाना डिजिटल हो गया है यदि आप भी किसी प्राइवेट या सरकारी दफ्तर में ज़रूर गए होंगे तो आपने देखा होगा वहां सभी काम कंप्यूटर के माध्यम से ही किये जाते है।

सीसीसी की फुल फॉर्म क्या है? CCC full form

  • CCC Full Form in English – Course On Computer Concepts
  • CCC Full Form in Hindi – कंप्यूटर अवधारणा पर कोर्स

अगर आप भी सोच रहे है कि 10वीं के बाद क्या करे तो बिना समय बर्बाद किये इस सीसीसी कंप्यूटर कोर्स को कर सकते है। यह आपका सीसीसी कोर्स एक प्रमाण पत्र है जो ये बताता है कि आपने CCC, CCC+, ECC, ACC, BCC के बारे में इन में से किसी एक कोर्स किया है जो गवर्नमेंट जॉब पाने के लिए आपकी कुछ हद तक मदद करते है।

CCC कोर्स कैसे करे? How to Do CCC Course in Hindi

इस कोर्स को करने के लिए आपके पास दो विकल्प होते है ऑनलाइन और ऑफलाइन, लेकिन आपको Online में कम फ़ीस और समय की बचत रहती है वहीं Offline में आपका 3 महीने और समय पैसा भी कुछ ज्यादा लगता है।

Step: 1

पहले आप NIELIT की ऑफिसियल Website पर जा सकते है और वहां पर इस कोर्स को ऑनलाइन भी कर सकते है। Online Course के लिए सीधे Apply कर सकते है तथा इस कोर्स का एग्जाम देने के लिए आपको ऑनलाइन ही रजिस्ट्रेशन करना होगा।

इस कोर्स की तैयारी खुद करने से आपके समय और पैसे दोनों की बचत होती है और इसका एग्जाम ऑनलाइन होता है जहाँ पर आपको आलग से कंप्यूटर दिया जाता है।

जैसे ही आप अपने कंप्यूटर पर रोल नंबर Enter करेंगे तो आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रश्न आ जायेंगे। आपको हल करने के लिए कुल 100 ऑब्जेक्टिव प्रश्न दिए जाते है।

Step: 2

दूसरा विकल्प आप सीसीसी कोर्स ऑफलाइन भी कर सकते है कुछ प्राइवेट संस्थाओं सीसीसी कोर्स का सिलेबस चलाने के लिए Nielit द्वारा परमीशन मिला हुआ होता है जो संस्था इस सीसीसी कंप्यूटर कोर्स को करा सकती है यह संस्थान कोर्स के बाद परीक्षा लेने के लिए Nielit द्वारा दिए गए परीक्षा के आदेश का पालन करती है।

सीसीसी में एग्जाम पास करने के लिए आपको कम से कम 50 अंक लाना जरुरी होता है यदि आप ज्यादा अंक लाते है तो आपको नंबर के हिसाब से ग्रेड मिलता है जो 85 अंक या इससे ज्यादा आने पर S ग्रेड, 75 अंक आने पर A ग्रेड, 65-74 आने पर B ग्रेड, 55-64 पर C ग्रेड और 50-54 आने पर D ग्रेड मिलती है। यदि 50 से कम अंक आते है तो कोई Grade नहीं मिलती है।

सीसीसी के लिए योग्यता (Qualification for CCC)

अगर आपने 10वीं पास कर रखी है तो अच्छी बात है इसे 10वीं कक्षा के बाद ही कर सकते है। इसके लिए कोई ज्यादा योग्यता नहीं मांगी जाती है। लेकिन जो अभ्यार्थी 12वीं के बाद सरकारी के लिए आवेदन करने चाहते रखते है। उनके लिए सरकार ने सीसीसी कोर्स अनिवार्य कर दिया गया है।

आयु सीमा: सीसीसी की परीक्षा के लिए आवेदन करने की कोई न्यूनतम आयु सीमा नहीं है।

सीसीसी कोर्स सिलेबस (CCC Syllabus)

अब हम जानेंगे की सीसीसी कोर्स में कौन-कौन सब्जेक्ट पढाये जाते है सिलेबस को देखने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को ध्यान से पढ़ें। तो आइये जान लेते है। जो इस तरह है।

  • Introduction To Computer
  • Basic Finance Terms
  • MS Excel
  • MS Word
  • MS Office Power Point
  • Computer Communication And Internet
  • Introduction To GUI Operating System

सीसीसी के फायदे (Benefits of CCC)

बेसिक नॉलेज कंप्यूटर करने के लिए आपको बहुत लाभ होते है इस लिए आपको सीसीसी कोर्स करना बहुत जरुरी होता है क्योंकि इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज की जानकारी होना जैसे इंटरनेट और माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस आदि के फीचर का इस्तेमाल करना तथा उसकी इतिहास चेक करना आसानी से सिख सकते है।

कंप्यूटर एक ऐसा उपकरण है जिसमे मानव द्वारा किये जाने वाले लगभग सभी कामों पर कब्ज़ा कर लिया है।

वर्तमान समय में सीसीसी का सबसे बड़ा फायदा सरकारी नौकरी व प्राइवेट कंपनी में कंप्यूटर डिप्लोमा माँगा जाता है। अगर आप भी किसी सरकारी या प्राइवेट नौकरी के लिए Apply करना चाहते है तो आपके सीसीसी कोर्स करना बहुत ज़रूरी है।

सीसीसी कोर्स फीस (CCC Course Fees)

सीसीसी परीक्षा के लिए आपको ऑनलाइन परीक्षा देने पर 590 रुपया शुल्क लगता है जबकि प्राइवेट संस्था में आपका थोड़ा ज्यादा शुल्क लगता है।

आपको बता दें, मान्यता प्राप्त Nielit द्वारा प्राइवेट संस्था में लगभग 2000 से लेकर 2500 रुपए तक देने होते है। जिसे आप दो से तीन किस्तों में भी दे सकते है वे आप पर निर्भर करता है।

निष्कर्ष,

तो दोस्तों, हमने आज आपको CCC course के बारे में बताया कि सीसीसी क्या है, सीसीसी कैसे करे, इसके लिए योग्यता, सिलेबस, सीसीसी के फायदे, फ़ीस आदि के बारे में विस्तार बताया।

हम उम्मीद करते है, यह आर्टिकल अंत तक पढ़ने के बाद आपको CCC के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी। इसके अलावा, अगर अभी भी आपके मन में इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट में बता सकते है।

यह भी पढ़ें:

  • LIC agent कैसे बने?

यदि आपको CCC Kya Hai, CCC Kaise Kare? की जानकारी उपयोगी लगे तो सोशल मिडिया पर अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें ताकि वे भी इसके बारे में जान सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *