बी.टेक क्या है और B.Tech Course कैसे करें?

आपने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई का नाम तो जरूर सुना होगा, जो एक ऐसे इंजीनियर हैं जिन्होंने पूरी दुनिया में भारत का सिर गर्व से ऊंचा किया है। उनके करियर को देखकर हर किसी स्टूडेंट के में मन में ख्याल भी आता होगा कि भविष्य में हमें उन्हीं की तरह Successful Engineer बनना है। अगर हम आज के बदलते दौर को देखें तो किसी भी देश की Development में एक इंजीनियर की बेहद अहम भूमिका होती है। हम सभी जानते हैं कि टेक्नोलॉजी मॉर्डन वर्ल्ड का लेटेस्ट ट्रेंड है। ऐसे में किसी भी देश को एक योग्य इंजीनियर की जरूरत होती है।

B.Tech Course kaise kare

किसी भी देश और समाज के निर्माण में इंजीनियर की भूमिका रचनात्मक होती है। लेकिन आप जानते हैं कि समस्या क्या है? समस्या यह है कि युवाओं को कोर्सेस की जानकारी ठीक से नहीं होती। हर साल लाखों युवा इंजीनियरिंग पास तो करते हैं लेकिन योग्य न होने के कारण बेरोजगार रहते हैं। हमारी जिंदगी में दसवीं क्लास बहुत महत्वपूर्ण होती है क्योंकि हमें यहां तय करना होता है कि हमें अपना करियर किस फील्ड में बनाना है। काफी युवा हैं जिनकी इंजीनियर बनने की चाहत होती है। भेड़ चाल में चलते हुए इंजीनियरिंग कर भी लेते हैं लेकिन कहीं न कहीं वो गलतियां कर बैठते हैं।

अगर आप इंजीनियर बनना चाहते हैं तो इंजीनियरिंग के लिए B.Tech कोर्स को काफी पॉपुलर माना जाता है। हर कोई जानता है कि इंजीनियर बनना है तो बीटेक कर लेते हैं। लेकिन बीटेक क्या है, कैसे करनी है, योग्यता क्या होनी चाहिए, बीटेक में हमें किस ब्रांच को चुनना चाहिए, इसकी नॉलेज पूरी नहीं होती।

इसीलिए, आज हम Undergraduate Level के कोर्स B.tech के ऊपर आर्टिकल लिख रहे हैं जिसमें हम कोशिश करेंगे की आपको बीटेक से जुड़ी सारी इंफोर्मेशन दे सके। जैसे बीटेक क्या है, कैसे करनी चाहिए, बीटेक के बाद क्या करें, इसमें कितना करियर स्कोप है, फीस कितनी लगती है आदि।

इसीलिए आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें। (What is B.Tech Full Information in Hindi, Eligibility for B.tech, B.tech Kaise Kare, Career Scope After B.tech Course)

विषय-सूची

  • B.Tech कोर्स क्या है? (What is B.Tech Course In Hindi)
  • B.Tech Course कैसे करें? (How to Do B.Tech Course In Hindi)
    • बी.टेक के लिए योग्यता (Eligibility for B.Tech)
    • Entrance Exam क्लियर करें
    • B.Tech के लिए फीस (Fees for B.Tech Course)
    • बी.टेक के कोर्स (Course)
    • B.Tech के बाद एजुकेशनल ऑप्शन्स
    • बीटेक के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स
    • B.Tech. के बाद करियर ऑप्शन (Career Options After B.Tech)
    • B.Tech ग्रेजुएट्स को जॉब ऑफर करने वाले इंडियन टॉप Employers
    • B.tech ग्रेजुएट्स की सैलरी (B.Tech Job Salary)
    • Conclusion,

B.Tech कोर्स क्या है? (What is B.Tech Course In Hindi)

B.tech यानि बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology). ये एक अंडरग्रेजुएट लेवल का इंजीनियरिंग कोर्स है। इस कोर्स को पूरा करने में 4 साल का समय लगता है। इस कोर्स को करने के बाद स्टूडेंट्स इंजीनियर बन सकते हैं। बीटेक कोर्स में छात्रों को इलेक्ट्रॉनिक्स, कम्युनिकेशन, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, सिविल आदि कोर्सस कराए जाते हैं। इंडिया में करीब साढ़े तीन लाख ऐसे कॉलेज हैं जो बीटेक ऑफर करते हैं। लेकिन टॉप इंस्टीट्यूट्स में प्रवेश करने के लिए कुछ एंट्रेस एग्जाम्स देने होते हैं जैसे – JEE-main, JEE एडवांस या BITSAT आदि।

B.Tech Course कैसे करें? (How to Do B.Tech Course In Hindi)

बीटेक कोर्स करने के लिए कुछ eligibility criteria सेट किया गया है। जिसमें खरा उतरने के बाद ही कोई स्टूडेंट बीटेक की पढ़ाई कर सकता है।

बी.टेक के लिए योग्यता (Eligibility for B.Tech)

  • बीटेक में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट का 12th पास out होना जरूरी है।
  • 12th में स्टूडेंट के बाद (PCM) Physics, Chemistry और Math subjects होने चाहिए।
  • इसके अलावा एक अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए कम से कम 60 फीसदी अंक होने चाहिए।

भारत में government और private दोनों ही तरह के कॉलेज बीटेक कोर्स ऑफर करते हैं। Government college में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेस एग्जाम देना होगा। वहीं, प्राइवेट कॉलेज में उसकी पॉलिसी की हिसाब से आपको एडमिशन मिल जाएगा।

Entrance Exam क्लियर करें

अगर आप अच्छे सरकारी इंस्टीट्यूट से बीटेक करना चाहते हैं तो एंट्रेस एग्जाम के लिए अच्छे से पढ़ाई करें। ताकि आपको बेहतर यूनिवर्सिटी या कॉलेज में एडमिशन मिल सकें। जितने अच्छे मार्क्स होंगे, उतना अच्छा कॉलेज मिलेगा और आपको आगे जॉब के समय में उतनी ही ज़्यादा तवज्जो दी जाएगी। आप JEE-main, JEE एडवांस या BITSAT आदि प्रवेश परीक्षा पास करके बीटेक के लिए दाखिला ले सकते हैं।

B.Tech के लिए फीस (Fees for B.Tech Course)

अब बात आती है कि इस कोर्स को करने में कितना खर्चा आता है। आपको बता दूं कि सरकारी और प्राइवेट दोनों इंस्टीट्यूट्स का खर्चा अलग होता है। सरकार ने सरकारी कॉलेज के बीटेक कोर्स के लिए 80 हज़ार रूपए प्रति वर्ष फीस तय की है। इस फीस में एडमिशन फीस, ट्यूशन फीस, लैब फीस आदि सबका खर्चा शामिल होता है। वहीं, प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स में हर किसी का fee structure अलग होता है। लेकिन इनमें मिनिमम साल का 2 से 3 लाख का खर्चा आता है।

बी.टेक के कोर्स (Course)

बीटेक एक बहुत ही वाइड कोर्स है जिसे अलग अलग शाखाओं में बांटा गया है। बीटेक के तहत कई सब-कोर्सस ऑफर किए जाते हैं। आप अपने interest के हिसाब बीटेक की कोई भी ब्रांच चुन सकते हैं।

  • B.Tech In Electrical Engineering
  • B.Tech In Computer Engineering
  • B.Tech In Mechanical Engineering
  • B.Tech In Civil Engineering
  • B.Tech In Electronics Engineering
  • B.Tech In Information Technology

1. Electrical Engineering

इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्टूडेंट्स को इलेक्ट्रिसिटी की टेक्नोलॉजी की स्टडी कराई जाती है। इसमें स्टूडेंट इलेक्ट्रिसिटी के component डिवाइस और सिस्टम के बारे में डिटेल में जानकारी हासिल करता है। आसान भाषा में समझे तो इसमें इलेक्ट्रिसिटी से जुड़े डिवाइसेस की पढ़ाई होती है।

2. Computer Engineering

इस ब्रांच की स्टडी करने के बाद स्टूडेंट सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर इंजीनियर बनते हैं। इसमें आपको कोडिंग, वेब एप्लीकेशन, website developing आदि के बारे में पढ़ाया जाता है।

3. Mechanical Engineering

ये बीटेक की सबसे पुरानी ब्रांच मानी जाती है। आसान से शब्दों में समझें तो मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्टूडेंट्स को मशीनों की बनावट और निर्माण के बारे में पढ़ाया जाता है। आप इस ब्रांच को स्टडी करने के बाद छोटी से लेकर बड़ी मशीनों का निर्माण कर सकते हैं।

4. Civil Engineering

ये इंजीनियरिंग की एक ऐसी ब्रांच है इसमें किसी बिल्डिंग के डिजाइन, Construction, उसके प्राकृतिक (Naturally) और भौतिक (Physical) पर्यावरण के रखरखाव का काम होता है। इसके अलावा पब्लिक काम जैसे रोड, ब्रिज, कैनाल्स, डैम्स, एयरपोर्ट्स, सीवेज सिस्टम, पाइपलाइन्स, रेलवेज आदि का भी काम शामिल होता है। देश की Infrastructural Development में सिविल इजीनियरिंग प्रोफेशनल्स का रोल निभाते हैं।

5. Electronics engineering-

Btech की इस ब्रांच के तहत इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सर्किट और कम्युनिकेशन उपकरणों जैसे ट्रांसमीटर रिसीवर इंटीग्रेटेड सर्किट की स्टडी पर फोकस किया जाता है। बहुत ही आसान भाषा में समझें तो हमारी डेली लाइफ में इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस जैसे टीवी, रेडिया, मोबाइल, लेपटॉप आदि इसी ब्रांच की स्टडी करने वाले इंजीनियर्स तैयार करते हैं। इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर सेटेलाइट के डिवाइस डिजाइन करते हैं।

6. Information Technology-

आपने देखा होगा कि ऑफिस वगैरह में सर्वर का काम या किसी सिस्टम में कोई समस्या आने पर IT को बुलाया जाता है। तो आईटी, CS का एडवांस वर्ज़न होता है। आज के दौर में IT सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण ब्रांच है।

B.Tech के बाद एजुकेशनल ऑप्शन्स

बीटेक करने के बाद स्टूडेंट्स के पास दो ऑप्शन होते हैं। या तो आप जॉब कर सकते हैं या हायर स्टडीज़ कर सकते हैं। अगर आपका higher studies करने का मन है तो आप आगे अलग अलग एंट्रेस एग्जाम्स देकर टॉप एजुकेशनल, मैनेजमेंट या टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट् में एडमिशन ले सकते हैं। नीचे हम आपको कुछ पोस्टग्रेजुएशन कोर्सेस बता रहे हैं जो आप बीटेक के बाद कर सकते हैं।

  • M.Tech
  • MBA
  • MS
  • विदेशी यूनिवर्सिटी में हायर स्टडी
  • डिप्लोमा कोर्सेज

बीटेक के लिए टॉप इंस्टीट्यूट्स

नीचे दी गई लिस्ट में भारत के टॉप टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट्स बताए गए हैं।

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, मद्रास/ बॉम्बे/ खड़गपुर/ दिल्ली/ कानपूर/ रुड़की/ पटना
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
  • इंडियन स्कूल ऑफ़ माइंस, धनबाद
  • पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी, देहरादून
  • देहरादून इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, देहरादून
  • मनिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी
  • SRM यूनिवर्सिटी, चेन्नई

B.Tech. के बाद करियर ऑप्शन (Career Options After B.Tech)

आप किसी भी ब्रांच से बीटेक करते हैं तो आपके पास करियर के काफी ऑप्शन होते हैं। टेक्निकल बैकग्रांउड वाले स्टूडेंट्स को इंडियन सिविल सर्विसेज में भी जॉब मिल जाती है। इसके लिए उनको इंडियन सिविल सर्विस का एग्जाम पास करना होता है। बीटेक करने बाद स्टूडेंट्स इंडिया के डिफेंस सेक्टर में भी अप्लाई कर सकते हैं।

अगर आप चाहें तो टीचिंग प्रोफेशन चुन सकते हैं। इसके लिए अगर आप राइटिंग में अच्छे हैं तो टेक्निकल राइटर बन सकते हैं। आप अपनी खुद की कंसल्टेंसी सर्विस शुरू कर सकते हैं। अपनी ब्रांच से जुड़ी किसी भी इंडस्ट्री में जॉब कर सकते हैं।

हमारे देश में CII, ISRO और BARC जैसे PSUs B.Tech स्टूडेंट्स के लिए एग्जाम कराती है जहां उनके Gate स्कोर के basic पर एंट्री लेवल जॉब्स मिल जाती है। बीटेक ग्रेजुएट्स मेक इन इंडिया पॉलिसी के तहत अपना स्टार्ट-अप शुरू कर सकते हैं जैसे अपनी खुद की आईटी कंपनी की शुरूआत।

B.Tech ग्रेजुएट्स को जॉब ऑफर करने वाले इंडियन टॉप Employers

इन कंपनियों में बीटेक स्टूडेंट्स को अच्छी जॉब मिल जाती है। जैसे:

  • डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन (DRDO)
  • स्टील अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (SAIL)
  • भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL)
  • नेशनल थर्मल पॉवर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NTPC)
  • टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज लिमिटेड (TCS)
  • इंटरनेशनल बिजनेस मशीन्स कॉर्पोरेशन (IBM)
  • टाटा मोटर्स
  • विप्रो
  • इन्फोसिस
  • एक्ससेंचर
  • कॉग्निजेंट
  • ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (ONGC)
  • हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL)
  • चेन्नई पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (CPCL)
  • गैस अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (GAIL)

B.tech ग्रेजुएट्स की सैलरी (B.Tech Job Salary)

बीटेक स्टूडेंट्स की शुरूआत सैलरी काफी अच्छी होती है। अगर कॉलेज से प्लेसमेंट हुई है तो कई बड़ी कंपनियां ग्रेजुएट्स को 10-12 लाख प्रतिवर्ष के पैकेज पर भी हायर करती हैं। इसके अलावा फ्रेशर्स की मिनिमम सैलरी 25 से 30 हज़ार रूपए होती ही है। एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ साथ पैकेज भी बढ़ता रहता है।

Conclusion,

इस आर्टिकल में हमने B.Tech के बारे में डिटेल में जानकारी प्राप्त की। हमने इसमें बीटेक कोर्स क्या है, कैसे करें, योग्यता, फीस, सैलरी, करियर ऑप्शन, बी.टेक से जुड़े हर एक टॉपिक पर बारिकी से बताने की कोशिश की है। उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पढ़ने के बाद बी.टेक के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। आपके डाउट्स भी क्लियर हो गए होंगे।

अगर अभी भी आपको B.Tech course के बारे में कोई और जानकारी चाहिए या आपका इससे रिलेटेड कोई सवाल है तो हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

  • बीबीए कोर्स क्या है और BBA Course कैसे करे?

अगर आपको बी.टेक क्या है और B.Tech kaise kare, की जानकारी अच्छी लगे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि कोई और भी इसके बारे में डिटेल में जान सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *