बीसीए (BCA) क्या है और BCA Course कैसे करें?

आज के वक्त में कंप्यूटर की नॉलेज होना कितना ज़रूरी है, ये शायद मुझे बताने की ज़रूरत नहीं है। हालांकि स्कूल से लेकर कॉलेज में हमें Computer की basic knowledge दी जाती है लेकिन इसमें एडवांस नॉलेज पाने के लिए हमें कुछ प्रोफेशनल कोर्स करने पड़ते हैं। कुछ लोग होते हैं जो इसके लिए डिप्लोमा प्रेफर करते हैं। लेकिन अगर आप खुद को professionally grow करना चाहते हैं तो हम recommend करेंगे कि आप specialized course (BCA Course) ही करें ताकि आपको सिर्फ computer की नॉलेज के अलावा काफी कुछ अलग भी सीखने को मिले।

BCA Course kaise kare

आप सभी जानते हैं कि धीरे-धीरे वक्त कितना बदल गया है। लोग न्यूज़पेपर से अब ई-पेपर पढ़ने लगे हैं। अखबारों के पन्ने में छपे किसी स्पेशल टॉपिक पर लिखे लेख को अब ब्लॉग्स में जगह मिलने लगी है। किताबों पर लिखी जाने वाली शायरियों के लिए अब स्पेशल वेबसाइट develop होने लगी हैं। Worldwide करोड़ों softwares और apps हैं, जिनसे हमारी ज़िदंगी बेहद आसान हो रही है।

तो क्या आपने कभी सोचा कि ये software developing, website developing कौन करता है? ये डेवलपर्स कौन-सा कोर्स करते होंगे? आज इस आर्टिकल में हम उसी कोर्स के बारे में बताएँगे जिसकी पढ़ाई करके हमारे developers वेब की दुनिया में अपना योगदान दे रहे हैं।

अगर आपका web developing, software developing या networking में interest है तो आप BCA कोर्स कर सकते हैं। अगर आप नहीं जानते कि BCA क्या है और कैसे करना है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें, इसमें हम डिटेल में इस कोर्स के बारे में बता रहे हैं। (What is BCA Full information in hindi, BCA kya hai aur kaise kare, Career scope after BCA in Hindi)

विषय-सूची

  • BCA क्या है? (What is BCA in Hindi)
  • BCA कैसे करें? (How to Do BCA Course In Hindi)
    • BCA Course के लिए Eligibility
    • BCA में एडमिशन कैसे लें?
    • BCA की फीस (BCA Course Fees)
    • BCA Course में आप क्या सीखते हैं?
    • BCA के सब्जेक्ट्स (BCA Course Subjects)
    • BCA के लिए कॉलेज कैसे चुनें?
    • BCA के बाद क्या करें?
    • BCA में जॉब्स और टॉप कंपनियां
    • BCA में जॉब प्रोफाइल्स
    • सैलरी
    • BCA के लिए ज़रूरी स्किल्स
    • B.tech और BCA में फर्क
    • Conclusion,

BCA क्या है? (What is BCA in Hindi)

BCA अंडरग्रेजुएट लेवल का एक कोर्स है। इसकी फुल फॉर्म ‘बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन’ (Bachelor of Computer Applications) हैं। ये कोर्स तीन साल का होता है। जो स्टूडेंट्स Computer languages की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं, उनके लिए ये एक suitable course है।

Information Technology में अपना करियर डेवलेप करने के लिए आप इस पॉपुलर कोर्स को कर सकते हैं। इस प्रोग्राम में आपको computer और इसकी applications के बारे में पढ़ाया जाएगा। BCA को हमेशा B.tech डिग्री से compare किया जाता है। इन दोनों में क्या फर्क है और आपके लिए ज़्यादा अच्छा ऑप्शन कौन-सा है, वो हम आगे इस आर्टिकल में बताएँगे।

BCA कैसे करें? (How to Do BCA Course In Hindi)

BCA के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कुछ Eligibility criteria सेट किए गए हैं। जिनपर आपको खरा उतरना होता है। आप BCA प्रोग्राम में तीन तरीके से एडमिशन ले सकते हैं लेकिन उससे पहले जानते हैं कि आपके पास 12वीं में कौन-से सब्जेक्ट्स और कितने मार्क्स होने चाहिए।

BCA Course के लिए Eligibility

BCA प्रोग्राम में अपना करियर pursue करने के लिए ज़रूरी नहीं है कि स्टूडेंट्स ने अपनी 12वीं साइंस स्ट्रीम से की हो। यहां तक कि 12वीं में Arts or Commerce लेने वाले स्टूडेंट्स भी BCA में एडमिशन ले सकते हैं। स्टूडेंट के पास English और maths सब्जेक्ट्स का होना compulsory है और 12वीं में 45-55 फीसदी मार्क्स होने चाहिए।

Note:- हर कॉलेज का अपना एक अलग eligibility criteria हो सकता है।

BCA में एडमिशन कैसे लें?

BCA में एडमिशन लेने के तीन तरीके हैं।

  1. Direct Admission: कुछ कॉलेज या यूनिवर्सिटीज़ में कैंडिडेट को सिर्फ 12वीं के अंक के आधार पर डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है।
  2. Entrance Exams: बीसीए में एडमिशन लेने का दूसरा तरीका है एंट्रेस एग्जाम क्लियर करना। कुछ कॉलेज/यूनिवर्सिटीज़ में एंट्रेस एग्जाम क्लियर करने के बाद ही एडमिशन मिलता है।
  3. Interview: वहीं, कुछ इंस्टीट्यूशन्स में पर्सनल इंटरव्यूज़ भी conduct कराए जाते हैं।

BCA की फीस (BCA Course Fees)

अब बारी आती है कि इस प्रोग्राम को करने में कितना खर्चा आता है। हालांकि, हर कॉलेज का अलग अलग Fee structure होता है। इसके अलावा आपका खर्चा इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप प्राइवेट इंस्टीट्यूट से पढ़ाई कर रहे हैं या सरकारी। सरकारी इंस्टीट्यूट्स की फीस एवरेज 5 से 15 हज़ार होती है। वहीं प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स की फीस एवरेज 70,000 से 2 लाख रूपए तक हो सकती है।

नोट:- प्राइवेट संस्थानों में फीस कॉलेज टू कॉलेज वैरी करती हैं।

BCA Course में आप क्या सीखते हैं?

BCA में स्टूडेंट्स को IT से जुड़ी चीज़ें पढ़ाई जाती हैं। इस कोर्स में स्टूडेंट्स को सॉफ्टवेयर कैसे बनाया जाता है, वेबसाइट कैसे बनाई जाती है, उनको कैसे डिजाइन किया जाता है। ये सारी चीजें सिखाई जाती है। इसके अलावा कंप्यूटर बेसिक्स, प्रोग्रामिंग लैग्वेज़ जैसे C, Java आदि,
सॉफ्टवेयर डेवलपिंग एंड डिजाइनिंग, वेब डेपलपिंग एंड डिजाइनिंग, नेटवर्किंग, डेटाबेस मैनेजमेंट आदि के बारे में theoretically और practical नॉलेज दी जाती है।

BCA के सब्जेक्ट्स (BCA Course Subjects)

तीन साल के इस प्रोग्राम को 6 सेमेस्टर्स में कवर कराया जाता है। नीचे दी गई लिस्ट को पढ़ें जिसमें आपको हर सेमेस्टर के सब्जेक्ट्स के बारे में बताया गया है।

Overview of BCA Subjects

Semester 1

  • Hardware Lab (CIA Only)
  • Creative English
  • Foundational Mathematics
  • Statistics I for BCA
  • Digital Computer Fundamentals
  • Introduction to Programming Using C
  • C Programming Lab
  • PC Software Lab

Semester 2

  • Case Tools Lab (CIA Only)
  • Communicative English
  • Basic Discrete Mathematics
  • Operating Systems
  • Data Structures
  • Data Structures Lab
  • Visual Programming Lab

Semester 3

  • Interpersonal Communication
  • Introductory Algebra
  • Financial Accounting
  • Software Engineering
  • Database Management Systems
  • Object Oriented Programming Using C++
  • C++ Lab
  • Oracle Lab
  • Domain Lab (Cia Only)

Semester 4

  • Professional English
  • Financial Management
  • Computer Networks
  • Programming in Java
  • Java Programming Lab
  • DBMS Project Lab
  • Web Technology Lab
  • Language Lab (CIA Only)

Semester 5

  • Unix Programming
  • OOAD Using UML
  • User Interface Design
  • Graphics and Animation
  • Python Programming
  • Business Intelligence
  • Unix Lab
  • Web Designing Project
  • Graphics and Animation Lab
  • Python Programming Lab
  • Business Intelligence Lab

Semester 6

  • Design and Analysis of Algorithms
  • Client-Server Computing
  • Computer Architecture
  • Cloud Computing
  • Multimedia Applications
  • Introduction to Soft Computing
  • Advanced Database Management System

BCA के लिए कॉलेज कैसे चुनें?

जब भी आप BCA के लिए कॉलेज सिलेक्ट करें तो नीचे दी गई बातों को ध्यान में रखकर ही कॉलेज चुनें।

Affiliation: ये देखना बहुत ज़रूरी है कि जिस कॉलेज से आप ग्रेजुएशन के लिए एडमिशन लेने की सोच रहे हैं वो recognized है या नहीं। क्योंकि आप जब भी जॉब मार्केट में जाएंगे तो आपका कॉलेज/यूनिवर्सिटी आपको सीवी में एक वैल्यू एड करता है। इसीलिए अपने लिए किसी recognized इंस्टीट्यूट को ही चुनें।

Curriculum: जब भी आप कॉलेज चुनें तो अपने कोर्स syllabus को दूसरे कॉलेजेस के पाठ्यक्रम से ज़रूर मैच करके देखें। चेक करें कि क्या इस कॉलेज का कोर्स अप टू डेट है या नहीं, क्या ये international standards से मैच करता है या नहीं। ध्यान रखें कि कोर्स बेसिक्स को कवर करने के साथ specialization भी ऑफर करता हो।

Faculty: किसी भी टीचर का आपके करियर के लिए बहुत ज़रूरी रोल होता है इसीलिए उस कॉलेज के टीचर्स के बारे में थोड़ा रिसर्च ज़रूर करें।

Placement: ये ज़रूर सुनिश्चित करें कि कॉलेज का प्लेसमेंट कैसा है। इसके लिए आप पुराने रिकॉर्ड्स भी चेक कर सकते हैं। अगर संभव है तो कॉलेज के alumni से भी इसके regarding बात कर सकते हैं।

Fees: जिस कॉलेज को आपने शॉर्टलिस्ट किया है, उसकी फीस को दूसरे कॉलेजेस की फीस से compare करके देखें। ये ज़रूर चेक करें कि क्या आप उस फीस को अफॉर्ड कर सकते हैं या फिर शॉर्टलिस्ट किया गया कॉलेज इतनी फीस के लिए worth है।

BCA के बाद क्या करें?

जब आप ग्रेजुएट हो जाते हैं, उसके बाद सबसे बड़ा सवाल होता है कि अब क्या करें। ठीक इसी तरह BCA कोर्स करने के बाद भी स्टूडेंट्स अक्सर Confuse हो जाते हैं। तो चलिए जानते हैं कि ये प्रोग्राम पूरा करने के बाद आप क्या कर सकते हैं।

हम Personally आपको recommend करेंगे कि अपने करियर को एक wise push देने के लिए MCA (Masters of Computer Applications) करें। इसके अलावा आपके पास कई ऑप्शन्स हैं जिन्हें आप BCA के बाद अपना सकते हैं।

जैसे, CAT की तैयारी करें जिसके बाद आप IT Management में MBA कर सकते हैं।

  • अपनी मास्टर्स डिग्री MSC (IT) पूरी करें।
  • आप networking diploma कर सकते हैं और खुद को CCNP or CCNA certification के लिए तैयार कर सकते हैं।
  • आप Microsoft Certified Solutions Associate (MCSA) Certification या Red hat certifications की तैयारी कर सकते हैं और System Administrator, Desktop Technician या Help desk Assistant के तौर पर काम कर सकते हैं।
  • अपनी teaching skills को इम्प्रूव करने के लिए आप किसी स्कूल या कॉलेज में कम्प्यूटर टीचर बन सकते हैं।
  • अगर आप web programming में अच्छे हैं तो खुद की coding skills को और ज़्यादा इम्प्रूव करें और Web Development में अपना करियर बनाएं।
  • आप एक independent web designer के तौर पर भी काम कर सकते हैं।
  • काफी सारे BCA graduates सरकारी नौकरी के लिए भी अप्लाई करते हैं। आप भी कर सकते हैं।

BCA में जॉब्स और टॉप कंपनियां

हम सभी जानते हैं कि इंडिया में IT industry बूम कर रही है जिसके कारण BCA graduates की भी मांग बढ़ रही है। बीसीए डिग्री के साथ कैंडिडेट प्राइवेट के साथ साथ पब्लिक सेक्टर में भी जॉब पा सकता है।

कई लीडिंग IT companies जैसे Oracle, IBM, Infosys और Wipro बीसीए ग्रेजुएट्स को अच्छे पैकेज पर रिक्रूट करती हैं। इसके अलावा Government organizations जैसे the Indian Air Force (IAF), Indian Army, और India Navy भी अपने IT डिपार्टमेंट के लिए बड़ी संख्या में कम्प्यूटर प्रोफेशनल्स को हायर करती हैं।

BCA में जॉब प्रोफाइल्स

  • System Engineer
  • Software Tester
  • Junior Programmer
  • Web Developer
  • System Administrator
  • Software Developer

सैलरी

जहां तक सैलरी की बात है तो अगर आप किसी MNC कंपनी में as a फ्रैशर जॉब कर रहे हैं तो आपकी सैलरी 25,000 से 40,000 रूपए प्रतिमाह हो सकती हैं। इसके अलावा अगर हम IT giants जैसे Facebook, Microsoft जैसी कंपनियों की बात करें तो शुरूआती सैलरी लाखों रूपए भी हो सकती है।

BCA के लिए ज़रूरी स्किल्स

  • Strong programming knowledge
  • Sound knowledge of Computers and IT
  • Ability to develop applications for practical aspects
  • Analytical Thinking
  • Strong communication skills
  • Creativity
  • Team work
  • Strong database concepts

B.tech और BCA में फर्क

अक्सर स्टूडेंट्स में बीटेक और बीसीए को लेकर कंफ्यूज़न रहती है, कि उन्हें कौनसा कोर्स करना चाहिए। इसीलिए हमनेनीचे कुछ अंतर बताएं है जिनके आधार पर आप अपना कंफ्यूज़न दूर कर कोर्स चुन सकते हैं।

B. Tech

  1. B.Tech एक चार साल का इंजीनियरिंग कोर्स है।
  2. 12वीं में साइंस स्ट्रीम लेने वाले स्टूडेंट्स ही इस कोर्स के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  3. BCA के मुकाबले btech की फीस ज़्यादा है।
  4. एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स का स्टेट लेवल या नेशनल लेवल एंट्रेस एग्जाम क्लियर करना ज़रूरी है।
  5. B.Tech का सिलेबस BCA की तुलना में काफी comprehensive और professional है। इसमें काफी सब्जेक्ट्स के बारे में पढ़ाया जाता है।
  6. Job scope: IT sector और multinational कंपनियां। बीटेक को करने के तुरंत बाद अच्छी जॉब मिल जाती है।

BCA

  1. BCA तीन साल का एक डिग्री कोर्स है जो कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और लैंग्वेज से जुड़ा है।
  2. किसी भी स्ट्रीम के स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं। बस, इंग्लिश और मैथ्स ज़रूरी सब्जेक्ट्स हैं।
  3. BCA की फीस बीटेक से कम है।
  4. ऊपर बताए गए तरीकों के मुताबिक एडमिशन ले सकते हैं।
  5. BCA सिलेबल सॉफ्टवेयर लैंग्वेज और मैनेजमेंट क्वॉलिटी के साथ डील करता है।
  6. Job scope: सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग। इसके अलावा बीसीए, हायर स्टडीज़ के लिए एक अच्छा प्लेटफॉर्म है।

Conclusion,

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने BCA कोर्स के बारे में काफी डिटेल में जाना। बीसीए क्या है, कैसे करें, इसके लिए पात्रता मानदंड (Eligibility Criteria) क्या है, कॉलेज कैसे सिलेक्ट करें, बीसीए के बाद क्या करें, कहां जॉब कर सकते हैं आदि। इसके अलावा स्टूडेंट्स का कंफ्यूज़न दूर करने के लिए हमने बीटेक और बीसीए में अंतर भी बताया। उम्मीद है कि आपको आर्टिकल से बहुत मदद मिलेगी।

अगर इसके अलावा आपको बीसीए के बारे में कोई और नॉलेज चाहिए या आपका इससे संबंधित कोई सवाल है तो कमेंट में हमसे पूछ सकते हैं।

यदि आप B.tech करना चाहते हैं, और बीटेक कोर्स के बारे में जानकारी खोज रहे हैं निचे वाले आर्टिकल में जाएँ। इसमें आपको बीटेक के बारे में डिटेल में जानकारी मिल जाएगी।

यह भी पढ़ें:

  • बी.टेक क्या है और B.Tech Course कैसे करें?

अगर आपको इस पोस्ट में बीसीए कोर्स के बारे में अच्छी जानकारी मिले तो सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि कोई और भी  BCA Course के बारे में जान सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *