प्रोएक्टिव कैसे बनें? How To Be Proactive Person


आप दुनिया का प्रत्येक वह कार्य कर सकते हैं जो अब तक किसी इंसान ने किया है। कैसे? इसके लिए आपको बस एक अच्छी आदत की जरुरत है और वह है- Be Proactive .

Contents
hide
1
आखिर प्रोएक्टिव आदत होती क्या है?

2
Meaning of Proactive In Hindi

3
प्रोएक्टिव व्यक्ति किस तरह का माइंडसेट रखता है?

4
Activities Of Proactive Person

5
प्रोएक्टिव कैसे बनें?

6
How To Be Proactive Person

और यदि आप कुछ नया और अच्छा करने का सोचते हैं जो अब तक किसी ने नहीं किया है तो आप वह भी कर सकते हैं। इसके लिए भी आपको Proactive Person बनना होगा।

be proactive hindi
Be ProActive

अब आप हर वह काम कर पाएंगे जो आप करना चाहते हैं।

अब आप वह सब कुछ प्राप्त कर पाएंगे जो आप प्राप्त करना चाहते हैं।

अब आप वह मुकाम हासिल कर पाएंगे जो आप पाना चाहते हैं।

और यह सब होगा केवल अपने आप को एक प्रो एक्टिव पर्सन बना लेने से।

अब आपके माइंड में केवल और केवल एक ही प्रश्न होगा कि आखिर यह प्रोएक्टिव आदत क्या होती है? (What is Proactive Habit) मैं कैसे प्रोएक्टिव बन सकता हूँ? (How to be Proactive Person)

आइये सबसे पहले यह जानते हैं कि प्रो एक्टिव होने का क्या मतलब होता है? (Meaning of Be Proactive in Life)

आखिर प्रोएक्टिव आदत होती क्या है?

Meaning of Proactive In Hindi

एक ProActive Person अपनी जीवन की और जीवन में होने वाली प्रत्येक घटना और परिणाम (Activity and Result) की जिम्मेदारी (Responsibility : Response-Able) स्वयं लेता है।

वह कभी किसी पर भी दोषारोपण (Blame) नहीं करता है। वह अपने बाहर की दुनिया से प्रभावित हुए बिना अपने निर्णय खुद लेता है और सही निर्णय लेने के बाद सही एक्शन भी लेता है।

एक Proactive Person वह सभी कार्य करता है जो वह कर सकता है और जो चीज या घटना उसके काबू में नहीं है, उसके लिए वह ज्यादा नहीं सोचता और सकारात्मक सोच के साथ अपने कार्य में लगा रहता है।

यदि आप ऊपर बतायी गयीं हैबिट के मालिक हैं तो आप एक Pro Active Person हैं।

यदि आपमें Proactive Habit नहीं है तो क्या आप इसे अपनाना चाहेंगे?

मुझे मालूम है आप इस आदत को जरूर अपनाना चाहेंगे। मैं दावे के साथ इस बात को इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि आपका इस आर्टिकल को पढ़ना यह बताता है कि आप Proactive Habit को अपनी लाइफ में अपनाना चाहते हैं और अपने जीवन की जिम्मेदारी खुद लेना चाहते हैं।

आइये इस आदत के बारे में कुछ और जानते हैं। अब मैं आपको एक उदाहरण के द्वारा आपको समझाने की कोशिश करता हूँ।

राहुल के बॉस ने उसे एक प्रोजेक्ट दिया है और कहा है कि वह इस प्रोजेक्ट को तीन दिन में पूरा करके उन्हें दे। यदि वह ऐसा कर पाता है तो उसे प्रमोशन मिल सकता है।

राहुल में उस प्रोजेक्ट को पूरा करने की योग्यता है लेकिन वह जिस रूम में बैठकर उस प्रोजेक्ट पर वर्क कर रहा है वहां उसके साथ और भी colleagues बैठे हैं जो बातें बहुत करते हैं।

तीन दिन तक राहुल वहीँ बैठकर प्रोजेक्ट पर वर्क करता है लेकिन वह उसे पूरा नहीं कर पाता।

तीन दिन पूरा होने के बाद जब राहुल के बॉस उसे अपने पास बुलाकर प्रोजेक्ट के पूरा होने के बारे में पूछते हैं तो वह कहता है कि वह प्रोजेक्ट पूरा नहीं कर पाया क्योंकि उसके colleagues आपस में बहुत बात करते हैं जिससे वह बहुत डिस्टर्ब हो रहा था।

अपने colleagues की वजह से वह प्रोजेक्ट पूरा नहीं कर पाया। अब आप ही बताइये क्या राहुल एक Proactive Person है?

बिलकुल भी नहीं! वह Proactive नहीं बल्कि Reactive Person है जो अपने कार्य की खुद जिम्मेदारी नहीं लेकर दूसरों पर दोष लगाता है।

राहुल उस प्रोजेक्ट को पूरा करने की योग्यता रखता था लेकिन Proactive न होने के कारण असफल हो गया और साथ ही उसका प्रमोशन भी नहीं हुआ।

सोचो यदि राहुल ProActive होता तो क्या करता?

यदि राहुल प्रोएक्टिव होता तो उस रूम में अपना प्रोजेक्ट वर्क नहीं करता बल्कि प्रोजेक्ट के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझकर वह किसी ऐसे रूम में बैठकर कार्य करता जहाँ वह डिस्टर्ब नहीं होता।

यदि ऐसा रूम न मिलता तो वह उस प्रोजेक्ट को घर पर करता लेकिन उसे पूरा जरूर करता।

यदि वह यह स्टेप लेता तो वह अपने बॉस की नजरों में समय पर कार्य पूरा करने की जिम्मेदारी लेने वाले इंसान की इमेज बना लेता और प्रमोशन भी प्राप्त कर लेता।

राहुल की कहानी से आप समझ ही गए होंगे कि लोग जब किसी कार्य में असफल हो जाते किस तरह दूसरों को Blame करते हैं लेकिन खुद Responsibility नहीं लेते।

यदि आप भी ऐसा करते हैं तो आज और अभी से ही अपने जीवन को सफल बनाने की जिम्मेदारी खुद लो। आप आज ही अपनी लाइफ में कुछ अच्छा करने की पहल (initiative) करो।

ध्यान रखिये कि कोई भी इंसान जीवन में सफल तभी होता है जब वह Proactive Habit को अपना लेता है। एक Proactive Person बनने के लिए आपको इन सभी चीजों को अपने व्यवहार (Proactive Mindset) में लाना चाहिए–

प्रोएक्टिव व्यक्ति किस तरह का माइंडसेट रखता है?

Activities Of Proactive Person

1- आपको अपने जीवन में प्रत्येक कार्य, घटना और रिजल्ट की खुद जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

2- आपको यदि किसी कार्य में Failure मिले तो कभी किसी व्यक्ति, वस्तु या घटना पर दोष Blame नहीं देना चाहिए। 

3- आपको कभी यह नहीं सोचना चाहिए कि कोई अच्छा अवसर आपके पास खुद चलकर आएगा। बल्कि आपको अच्छे अवसर की खोज करते हुए उसके पास जाना चाहिए।

4- आप जो कर सकते हो अर्थात जो करना आपके बस या हाथ में है वह कार्य आपको जरूर करना चाहिए। और जिस कार्य या घटना पर आपका काबू नहीं है उसके बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए। 

5- “जब सभी परिस्थितियां सही होंगी तभी मैं कार्य की शुरुआत करूँगा।” आपको ऐसा नहीं सोचकर अपने कार्य के प्रति जिम्मेदारी लेते हुए पहल कर देना चाहिए। 

6- आपको केवल उन चीजों पर Focus करना चाहिए जो आपके काबू में हैं। आपको उन्हीं कार्यों में अपना effort लगाना चाहिए जिन्हें आप (या एक इंसान) कर सकता है या बदल सकता है।

जैसे आपको सफल और धनवान बनने पर फोकस करना चाहिए, effort लगाना चाहिए क्योंकि आप (या एक इंसान) इसे कर सकते हो।

7- आपको उन चीजों या घटनाओं से विचलित (Distract) नहीं होना चाहिए जो आपके (या एक इंसान) के बस में नहीं है। जैसे- आज मौसम अच्छा नहीं है। या मैंने शेयर में पैसे लगाए हैं और शेयर मार्किट बहुत गिर रहा है।

मौसम को बदलना और शेयर मार्किट को काबू में करना आपके हाथ में नहीं है इसलिए इन चीजों पर focus या चिंता करना छोड़ दीजिये और वह कीजिये जो आप कर सकते हैं। 

अब आपको करना क्या है?

प्रोएक्टिव कैसे बनें?

How To Be Proactive Person

अब आपको केवल और केवल प्रो एक्टिव (Be Proactive) बनना है। इसके लिए आप एक पेपर पर उन सभी समस्याओं को एक जगह लिख लेना है जिन्हें आप दूर करना चाहते हैं और उन कार्यों को एक जगह लिख लेना है जो आप पूरा करना चाहते हैं।

अब इन समस्याओं और कार्यों को दो पार्ट में डिवाइड कर लेना है।

पहले पार्ट में वह समस्या लिखो जिन्हें आप दूर कर सकते हैं और वह कार्य लिखो जिन्हें आप पूरा कर सकते हो। यानि वही चीजें आपको लिखनी हैं जिन पर आपका काबू हो।

अब दूसरे पार्ट में वह समस्या लिखो जिन पर आपका काबू नहीं है और वह कार्य लिखो जिन्हें पूरा करना आपके काबू में नहीं है।

अब आपको दूसरे पार्ट में लिखी Problems और Works को भूल जाना है और केवल पहले पार्ट में लिखी Problems और Works पर ही Focus करना है।

एक एक करके हर समस्या का सोलुशन खोजना है और जिम्मेदारी के साथ उसे दूर करते जाना है। साथ ही आपको प्रत्येक कार्य के लिए एक Solid Plan बनाना है और प्रत्येक प्लान को टाइम मैनेजमेंट के साथ पूरा करने की जिम्मेदारी लेना है।

सच मानिये यदि आप ऐसा करते हैं तो आपकी problems भी दूर होंगी और कार्य भी पूरे होंगे।

साथ ही साथ एक Positive Result आपको और देखने को मिलेगा। आप महसूस करेंगे कि आपकी वह समस्याएं भी कम हो रही हैं जिन पर आप काबू नहीं था और वह काम भी पूरे हो रहे हैं जिन पर आपको फोकस नहीं करना था।

इन सबका रिजल्ट आपको आपकी सफलता के रूप में 100% प्राप्त होगा।

तो देर किस बात की है, आज से प्रण लीजिये कि आप एक Proactive Person बनेंगे!!!

यदि आप Proactive Habit के बारे में और ज्यादा जानना चाहते हैं तो इस मोटिवेशनल बुक को पढ़ सकते हैं–

अति प्रभावशाली लोगों की 7 आदतें

————-*******———— 

दोस्तों! यह How To Be Proactive Person in Hindi आपको कैसा लगा? यदि यह Proactive Habit से रिलेटेड आर्टिकल आपको अच्छा लगा तो आप इस Best habit of successful person को Share कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें E.Mail भी कर सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें।

हमारी E.Mail Id है– [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने ब्लॉग पर Publish करेंगे। Thanks !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *