पर्सनल लोन (Personal Loan) क्या है?



पर्सनल लोन (personal loan) एक प्रकार का असुरक्षित ऋण (unsecured loan) होता है जो वर्तमान वित्तीय जरूरतों को पूरा करने में आपकी मदद करता है। आमतौर पर किसी भी व्यक्तिगत ऋण (personal loan) का लाभ उठाते समय आपको कोई भी सुरक्षा (security) या कोलैटरल को गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है और आपका ऋणदाता आपको आवश्यकतानुसार धनराशि का उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है। यह आपकी यात्रा की लागत (holiday expenses), शादी के खर्चों के प्रबंधन के लिए (wedding expenses), चिकित्सा (medical bill), आपातकाल (emergency), घर के नवीकरण (home renovation) और अन्य खर्चों के प्रबंधन के लिए काम में आता है|

personal loan kya hai

इसको पढ़े :-

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू कैसे करें – कम लागत में ज्यादा…

Facebook पर Mobile Number Hide कैसे करे ?

आजकल बहुत सारे लोग उच्च मूल्य के खरीददारी (big ticket purchase) के लिए भी पर्सनल लोन (personal loan) का इस्तेमाल करते है| इस प्रकार से वो अपने खरीददारी को आसान किश्तों में परिवर्तित करने के लिए भी पर्सनल लोन का उपयोग करते है|

होम लोन या कार लोन से विपरीत पर्सनल लोन के लिए सुरक्षा के तौर पे संपत्ति को गिरवी रखने की जरुरत नहीं है। इसका लाभ उठाने के लिए ऋणदाता (lenders) आपके किसी भी चीज़ की नीलामी नहीं कर सकता है। पर्सनल लोन्स की ब्याज दरें घर, कार या गोल्ड लोन्स (home, car, or gold loans) की तुलना में अधिक होती हैं क्योंकि उन्हें मंजूरी देते समय अधिक जोखिम होता है।

हालांकि, किसी भी अन्य ऋण की तरह पर्सनल लोन्स के भुगतान में देरी करना या चूक करना अच्छा नहीं है क्योंकि यह आपकी क्रेडिट रिपोर्ट (credit report) में प्रतिबिंबित (reflect) होगा और भविष्य में क्रेडिट कार्ड या अन्य लोन्स के लिए आवेदन करते वक़्त समस्या पैदा करेगा।

विषय – सूचि

पात्रता मापदंड (Eligibility criteria)

यद्यपि यह बैंक पर निर्भर करता है लेकिन इसके पात्रता मापदंडो में सामान्य रूप से आयु (age), व्यवसाय (occupation), आय (income), ऋण चुकाने की क्षमता (repayment capacity) और निवास स्थान शामिल हैं|

एक पर्सनल लोन का लाभ उठाने के लिए आपके पास एक नियमित आय स्रोत होना चाहिए चाहे आप एक वेतनभोगी व्यक्ति (salaried person), स्व-नियोजित व्यावसायिक (self-employed) या पेशेवर व्यक्ति (businessman) हों। एक व्यक्ति की पात्रता उसके कंपनी, क्रेडिट इतिहास इत्यादि पर भी निर्भर करती है।

अधिकतम लोन अवधि (maximum loan tenure)

लोन अवधि 1 से 5 साल या 12 से 60 महीने का हो सकता है। कुछ मामलो में कम या लंबे समय की अवधि दी जा सकती है लेकिन यह दुर्लभ है।


पर्सनल लोन कैसे मिलेगा (How to get a personal loan)?

विविध सरकारी बैंक, को-ऑपरेटिव बैंक, निजी बैंक और नॉन-बैंकिंग फिनांशियल कंपनी (NBFC) पर्सनल लोन्स प्रदान करते हैं| उसके लिए आपको या तो उस बैंक या फिनांशियल कंपनी में जाना होगा या उनके अधिकृत वेबसाइट (authorized website) पे जाके लोन के लिए आवेदन करना होगा|

इसको भी पढ़े :-

अगरबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू कैसे करें – कम लागत में ज्यादा…

Facebook पर Mobile Number Hide कैसे करे ?

ऑफलाइन (offline) माध्यम से लोन कैसे ले?

इसके लिए आप अपने निकटतम बैंक में जा सकते हैं और वहां एक प्रतिनिधि (bank officer) द्वारा आपको पर्सनल लोन्स (personal loan) से संबंधित पूरी जानकारी मिलेगी| विविध प्रकार के पर्सनल लोन्स के बारे में जानकारी हासिल कर आप अपने जरूरतों के हिसाब से उनकी तुलना करके योग्य पर्सनल लोन चुन सकते हैं| उसके बाद आपको पर्सनल लोन फॉर्म भरके आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे| आवश्यक जाँच पड़ताल के बाद कुछ दिनों में आपका आवेदन मंजूर हो जाएगा|

ऑनलाइन माध्यम से (online application)

ऑनलाइन माध्यम से पर्सनल लोन पाना भी आसान और सरल है| इसके लिए आपको उस बैंक या एनबीएफसी के अधिकृत वेबसाइट (website) पर जाना होगा जहां से आप लोन पाने की इच्छा रखते हैं| उसके बाद आपको अपने पात्रता (eligibility) और जरूरतों के हिसाब से पर्सनल लोन का चयन करना होगा| चयन करते वक़्त इस बात का ध्यान रखें की आपकी आय उस लोन के हिसाब से सही हो| उसके बाद आपको ऑनलाइन माध्यम से फॉर्म भरना होगा| उसके बाद एक प्रतिनिधि (executive) आपके घर पर आएगा और सारे जरुरी दस्तावेज जमा कर लेगा| उसके बाद आपके आवेदन की जाँच होगी और अगर आप लोन के लिए पात्र साबित होते हैं तो कुछ ही दिनों में आपको पर्सनल लोन मिल जाएगा|

कोई व्यक्ति पर्सनल लोन से कितनी राशि (quantum of loan) ले सकता है?

यह आमतौर पर आपकी आय पर निर्भर करता है और इस पर आधारित होता है कि आप वेतनभोगी (salaried person) या स्वयंनियोजित (self-employed) हैं। सामान्य रूप से बैंक लोन राशि को सीमित करते हैं जिससे ईएमआई (EMI) आपकी मासिक आय के 40-50% तक ही पहुँच सके|

पर्सनल लोन राशि (personal loan amount) की गणना करते समय आवेदक द्वारा लिए हुए मौजूदा लोन (current personal loan) पर भी विचार किया जाता है। स्वरोजगार (self-business) के लिए लोन का मूल्य सबसे हालिया अर्जित लाभ (recently achieved  profit) के आधार पर तय किया जाता है।

किस बैंक / वित्तीय संस्थान से ऋण लेना चाहिए?

कोई भी एक बैंक चुनने से पहले विभिन्न बैंकों के ऑफ़र की तुलना (loan comparison) करना योग्य साबित होगा। लोन प्रदाता (lender) पर निर्णय लेते समय कुछ प्रमुख कारक जैसे ब्याज दर (interest rate), लोन अवधि (tenure), प्रोसेसिंग फी (processing fee) आदि की तुलना करना आवश्यक है|


ब्याज दर (interest rate)

असुरक्षित लोन (unsecured loan) होने के कारण पर्सनल लोन (personal loan) घर और कारलोन्स की तुलना में अधिक ब्याज दर आकर्षित करते हैं। वर्तमान में कई अग्रणी बैंक (top banks) और एनबीएफसी (NBFC) 11.5%  की ब्याज दरों पर पर्सनल लोन की पेशकश करते हैं। हालांकि, यह कई कारकों पर निर्भर करता है जैसे की क्रेडिट स्कोर (credit score), आय स्तर (income status), लोन राशि (loan amount) और कार्यकाल (tenure), ऋणदाता के साथ पिछले संबंध (बचत खाता, ऋण या क्रेडिट कार्ड) आदि।

इन सब बातों का ध्यान रखते हुए आप एक पर्सनल लोन (personal loan) के लिए आवेदन कर सकते हैं और उस लोन को आसान किश्तों में चुका सकते हैं |

लेखक : Abhishek Ojha



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *