डीटीओ ऑफिसर क्या होता है और DTO Officer कैसे बने?

आज हम आपको एक ऐसे सरकारी पद के बारे में बताने वाले है जिसमें करियर बनाकर आप अपने भविष्य को अच्छा बना सकते हैं। बहुत से अभ्यर्थियों का सपना होता है कि वह पढ़ लिखकर अच्छा मुकाम हासिल कर सकें। आप भी अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए कोई सरकारी नौकरी की तलाश में होंगे। यदि आप भी सरकारी नौकरी की चाहत रखते हैं तो आपके लिए DTO officer का पद बहुत अच्छा है।

DTO Officer kaise bane

आज हम आपको डीटीओ अधिकारी के बारे में बताएंगे। जैसे, डीटीओ क्या होता है? डीटीओ अधिकारी कैसे बनते हैं, इसका काम, DTO Officer बनने के लिए योग्यता, साथ ही एक डीटीओ ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है आदि।

यदि आप भी DTO अधिकारी बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको सिर्फ इसके लिए ही नहीं हरके जॉब को हासिल करने के लिए उससे संबंधित जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। तभी आप उसकी अच्छे से तैयारी कर सकते हैं।

इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको DTO officer के बारे में details के साथ जानकारी देने की कोशिश करेंगे ताकि आपको पूरी जानकारी और बेहतर मार्गदर्शन मिल सके।

विषय-सूची

  • डीटीओ क्या होता है? What is DTO in Hindi
  • डीटीओ कैसे बने? How to Become DTO Officer in Hindi
    • डीटीओ के लिए योग्यता (Qualification For DTO)
    • डीटीओ बनने के लिए क्या करें? What to do Become DTO
    • डीटीओ की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for DTO
    • डीटीओ और आरटीओ में अंतर (Difference Between RTO & DTO)
    • डीटीओ ऑफिसर का वेतन (DTO Officer Salary)
    • निष्कर्ष,

डीटीओ क्या होता है? What is DTO in Hindi

आपको बता दे, डीटीओ जिला स्तरीय परिवहन संगठन के रूप में कार्यरत होते है और जिला परिवहन कार्यालय के आधार पर जिले में अलग-अलग कार्य भार संभालते है। क्योंकि डीटीओ अधिकारी मोटर वाहनों के नियमों के तहत जिले में वाहनों के लाइसेंस पंजीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

जिला परिवहन अधिकारी विभिन्न प्रकार ड्राइविंग लाइसेंस, मोटर वाहन डीलरो, नवीकरण पंजीकृत और मोटर वाहन अधिनियम के तहत विभिन्न करों वे शुल्क के संग्रह के लिए पूरी तरह जिम्मेदार रहते है। साथ ही, डीटीओ अधिकारी का जिले में बहुत महत्वपूर्ण पद होता है।

डीटीओ ऑफिसर क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण यानी सचिव के रूप में भी जाना जाता है यह एमवीआई प्रवर्तन निरीक्षकों वे लिपिक कर्मचारियों को निर्देश अनुसार पालना कराता है। इसके अलावा, डीटीओ एक जिला स्तरीय परिवहन के रूप में सभी कामों को संभालते है।

डीटीओ की फुल फॉर्म क्या होती है?

DTO Full Form In English “District Transport Officer” होता है, DTO Full Form In Hindi “जिला परिवहन अधिकारी” होता है।

डीटीओ कैसे बने? How to Become DTO Officer in Hindi

अगर आप भी डीटीओ ऑफिसर बनने की चाहे रखते है तो आपको इस पद के लिए बहुत मेहनत करनी होती है क्योंकि इस की परीक्षा राज्य लोक सेवा आयोग यानी Public Service Commission द्वारा आयोजित कराई जाती है। तो आपको PSC Exam की तैयारी टारगेट एवं लक्ष्य के साथ करनी होगी।

यदि आप भी परिवहन कार्यालय में जॉब पाना चाहते है तो इस क्षेत्र में लगभग हर साल भर्तीयां निकलती है जिसकी सूचना रोजगार समाचार, न्यूज़पेपर तथा ऑनलाइन अपडेट के रूप में भी देख सकते है।

मगर आप के पास डीटीओ ऑफिसर बनने के लिए कुछ योग्यता होनी बहुत ज़रूर है तभी आप इस के लिए आवेदन कर सकते है। तो आइये नीचे जान लेते है।

डीटीओ के लिए योग्यता (Qualification For DTO)

लेकिन आप इस पद को प्राप्त करना चाहते है और डीटीओ बनने के लिए आवेदन करना चाहते है तो सबसे पहले आपको एजुकेशन क्वालिफिकेशन के बारे में जानना बेहद आवश्यक है तभी आप डीटीओ के लिए अप्लाई कर सकते है।

डीटीओ ऑफिसर बनने के लिए आपको 12वीं पास करने के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से ग्रेजुएशन (Graduation) का कोर्स साथ ही, किसी भी किसी भी विषय स्ट्रीम से कर सकते है। इसके अलावा, इस नौकरी के लिए कोई भी सब्जेक्ट के अभ्यार्थी अप्लाई कर सकते है।

Age Limit: डीटीओ ऑफिसर बनने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 28 वर्ष होनी चाहिए। मगर कुछ वर्गों के लिए आयु सीमा में छूट दी जाती है। जैसे, ओबीसी वर्ग विद्यार्थियों के लिए 3 साल की छूट दी गई है जबकि एसटी/एससी वर्ग के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है।

अगर हमारे द्वारा बताई गई योग्यता आपके पास है तो आप DTO Officer के लिए आवेदन कर सकते है परंतु आपको यह भी जानना बेहद ज़रूरी है कि आख़िर डीटीओ बनने के लिए क्या करे। तो चलिए नीचे जान लेते है।

डीटीओ बनने के लिए क्या करें? What to do Become DTO

बता दें कि, डीटीओ बनने के लिए आपको पहले आवेदन करना होगा तथा डीटीओ ऑफिसर एग्जाम पास करने के लिए 2 परीक्षाएं देनी होती है। साथ ही, आपका Interview भी होता है। तो फ़िर भी आपको इस से संबंधित पूरी प्रक्रिया के बारे में बताते है। जो इस प्रकार है।

लिखित परीक्षा:

यदि आप जिला परिवहन कार्यालय के क्षेत्र में सफ़ल होना चाहते है तो सबसे पहले आपकी लिखित परीक्षा होती है। जिसमें आप से राष्ट्रिय, अंतराष्ट्रीय घटनाक्रम, भारत इतिहास, भूगोल, आर्थिक सामाजिक विकास, पर्यावरण प्रास्थिति,अंग्रेजी भाषा, सामान्य विज्ञान आदि विषयों से रिलेटेड सवाल पूछे जाते है।

मेडिकल जाँच:

डीटीओ मेडिकल जाँच में अभ्यार्थी का मानसिक शारीरिक स्वास्थ्य व सुनने की क्षमता, आँखों कलर के अंधेपन या कलर ब्लैकडनेस से मुक्ति हो, आँखों की दूरी की नज़र और पास की नज़र सामान्य होनी चाहिए साथ ही, शारीरिक से रिलेटेड कोई प्रोब्लम नहीं होनी चाहिए।

तभी जाँच टाइम आपके प्रत्येक अंग के मानक डॉक्टर के पास उपलब्ध रहते है जिससे वह आपको योग्य या अयोग्य घोषित करते है तो आपको टेस्ट फिट रहना बेहद आवश्यक होता है। तभी डीटीओ प्रक्रिया को आगे पूरा कर सकते है।

Interview:

अब आपको इंटरव्यू यानी साक्षात्कार को पास करना होगा जिसमें आपकी बुद्धि क्षमता, मूल्यों और गुणों के रूप में आपको जांचा जाता है। साथ ही, आपसे कुछ सवाल भी किये जाते है। तो आप इस सभी चरणों में पास हो जाते है तो आपको जिला स्तरीय परिवहन कार्यालय DTO Officer के आधार पर चुन लिया जाता है।

डीटीओ की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for DTO

अगर आप डीटीओ ऑफिसर की तैयारी करना चाहते है तो आपको पहले से कुछ जानकारी होना बहुत ज़रूरी होता है। तो आइये डीटीओ ऑफिसर से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण टिप्स जानते है।

  • आपको कड़ी मेहनत करने की बहुत आवश्यकता होती है क्योंकि इसकी परीक्षा PSC द्वारा Conduct कराई जाती है।
  • पुराने प्रश्न पत्र को हल करें इसके अलावा, आप चाहे तो कोई कोचिंग संस्थान ज्वाइन कर सकते है।
  • अपना जनरल नॉलेज बढ़ाये साथ ही, Daily news Paper पढ़ें और आत्मविश्वास से तैयारी करें।
  • यदि आप चाहे तो इंटरनेट पर डीटीओ के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।
  • किसी दूसरे के हाथ से बार-बार अलग प्रश्न पत्रिका बनाए फिर उसके प्रश्नों को सॉल्व करें।
  • अगर किसी सवाल का जवाब नहीं मिले तो इंटरनेट की सहायकता ले सकते है।
  • अपने आप को ऐसा काबिल बनाए की यदि किसी ने कोई सवाल किया तो उसे तुरंत जवाब मिले।
  • कभी भी अपने इच्छा को न छिपाएं और सवालों का जवाब देने के लिए हमेशा तैयारी रहे।
  • लक्ष्य के बारे में क्लियर रहें ताकि आप असमंजस की स्थिति में न रहें तथा सभी जानकारी रखें।
  • इंटरव्यू के दौरान बॉडी लैंग्वेज सही रखना बहुत ज़रूरी है। तभी आपका रुटीन संतुलन रहता है।
  • जब भी आप पढ़ाई करें तो पॉइंट बनाकर पढ़ें ताकि रिविजन करने में आसानी रह सके।
  • किसी भी एग्जाम की तैयारी करने के लिए एक निर्धारित समय सारणी के अनुसार पढ़ाई करें ।
  • यदि सब्जेक्टिव प्रश्नों के उत्तर देते समय अगर आपको महत्वपूर्ण पॉइंट याद होंगे तो तभी ऑब्जेक्टिव प्रश्नों के ज्यादा से ज्यादा उत्तर दे सकते है।

यदि आप हमारे द्वारा बताए गए कुछ बिंदुओं के अनुसार एग्जाम की तैयारी लक्ष्य एवं टारगेट के साथ करते है तो आपको इस परीक्षा में थोड़ी आसान राहे हो सकती है।

डीटीओ और आरटीओ में अंतर (Difference Between RTO & DTO)

आपको ये भी जानना बेहद जरुरी है कि आरटीओ और डीटीओ समान कार्य करते है लेकिन फिर भी उन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतर क्या है। तो आइये जान लेते है।

RTO: भारत के निम्न राज्यों के सभी ड्राइवरों और वाहनों के रिकॉर्ड डेटाबेस को बनाए रखता है। आरटीओ एक राज्य स्तरीय परिवहन संगठन होता है। आपको ये भी बात दें, एक राज्य में एक ही आरटीओ कार्यालय हो सकता है। आरटीओ के पास निर्धारित कार्यों के रूप में एक संगठन है जो सड़क, वाहन आदि की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रदर्शित करने की ज़रूरत होती है। साथ ही, यह वाहनों को पंजीकृत करने और सार्वजनिक परिवहन वाहनों के लिए प्रमाण वे लाइसेंस जारी करने सहित अन्य बहुत से कार्य करते है।

DTO: जबकि डीटीओ विभिन्न जिलों के सभी ड्राइवरों और वाहनों के रिकॉर्ड डेटाबेस रखते है डीटीओ एक जिला स्तरीय परिवहन संगठन होता है। लेकिन इसके अलावा, इन दोनों के कार्य में थोड़ा ही अन्तर होता है और यह अन्य सभी कार्य जिला लेवल संभालता है।

डीटीओ ऑफिसर का वेतन (DTO Officer Salary)

डीटीओ अधिकारी बनने के लिए बहुत सारे अभ्यार्थीयों के मन में सवाल रहता है आख़िर इस की सैलरी कितनी होती है। तो आपकी जानकारी के लिए बता दे, जिला परिवहन कार्यालय के रूप में एक डीटीओ ऑफिसर का वेतनमान काफी अच्छा होता है।

मगर फ़िर भी औसतन लगभग 16000 से लेकर 32000 रूपये प्रतिमाह हो सकती है साथ ही, सरकार द्वारा अन्य सभी भत्ते एवं सुविधा प्रोवाइड कराई जाती है। यदि देखा जाये तो एक डीटीओ ऑफिसर के रूप में बहुत ही सम्मानजनक सैलरी मिलती है।

निष्कर्ष,

इस आर्टिकल में हमने आपको DTO यानी District Transport Officer के बारे में बताया। जैसे, डीटीओ ऑफिसर क्या है?, डीटीओ कैसे बने, डीटीओ बनने के लिए योग्यता, डीटीओ आयु सीमा, डीटीओ बनने के लिए क्या करें, डीटीओ की तैयारी कैसे करें, डीटीओ सैलरी आदि। इसके अलावा, आरटीओ और डीटीओ में अंतर बताया।

हम उम्मीद करते है यह आर्टिकल पूरा पढ़ने के बाद आपको डीटीओ ऑफिसर कैसे बने? के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। इसके अलावा, यदि अभी भी आपके मन में इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट में बता सकते है।

यह भी पढ़ें:

  • RTO Officer कैसे बने? इसकी योग्यता, सैलरी क्या होती है?

यदि आपको DTO Officer Kaise Bane? की जानकारी उपयोगी लगे तो सोशल मिडिया पर अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें ताकि वे भी इसके बारे में जान सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *