टीटी (TT) कैसे बने? रेलवे टीटीई बनने के लिए योग्यता, सैलरी

हमारे देश में सरकारी जॉब पाने की तमन्ना रखने वाले युवा आज भी रेलवे के क्षेत्र में काफी रूचि रखते हैं। जो अभ्यर्थी रेलवे में जॉब करने का ख्वाब देख रहे है उनके लिए TT railway पद हासिल करने का एक सुनहरा अवसर है क्योंकि रेलवे के द्वारा हर साल हजारों पदों पर भर्ती आयोजित की जाती है जिसमें इच्छुक अभ्यार्थी आवेदन कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम यही बताने वाले है कि, रेलवे में टीटी कैसे बने? TTE बनने के लिया क्या करें? यदि आप टीटी बनना चाहते हैं और इसी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको टीटीई के बारे में पूरी जानकारी हो जाएगी।

TT kaise bane

आजकल ज्यादातर students रेलवे विभाग में नौकरी पाने के इच्छुक है। TT का पद भी रेलवे डिपार्टमेंट में विद्यार्थियों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। हो भी क्यों नहीं, क्योंकि टीटी की नौकरी एक ऐसी जॉब है जिसे हर कोई पसंद करता है। इस नौकरी में अच्छी सैलरी के साथ बहुत सारी सुविधाएं भी मिलती हैं जिसे देख हर कोई इस जॉब को पाना चाहे।

यदि आप भी रेलवे में टीटी की नौकरी पाना चाहते हैं तो सिर्फ चाहने से कुछ नहीं होगा क्योंकि हर साल हजारों उम्मीदवार ऐसी नौकरी के लिए apply करते हैं पर उनमें से कुछ ही सफल हो पाते हैं वही जो दिल लगाकर मेहनत करते हैं। आपको भी टीटी की जॉब हासिल करनी है तो पहले इसके योग्य बनना होगा और इसके बारे में पूरी जानकारी हासिल करनी होगी।

इस आर्टिकल में हम आपको TT के बारे में details के साथ बता रहे हैं ताकि आपको पूरी जानकारी मिल सके और आप टीटी की अच्छी तैयारी कर सके।

विषय-सूची

  • टीटी क्या होता है? What is TT in Hindi
  • टीटी कैसे बने? How to Become TTE in Hindi
    • टीटीई बनने के लिए योग्यता (Qualification to Become TTE in Hindi)
    • टीटी बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit for TT)
    • टीटी बनने के लिए क्या करें? What to do to Become TTE in Hindi
    • टीटी की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for TTE in Hindi
    • टीटी का काम क्या होता है? TTE Works, Duties, Responsibilities of TTE in Hindi
    • रेलवे टीटीई के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? How to apply online for Railway TTE in Hindi
    • रेलवे टीटी का वेतन (Railway TTE Salary in Hindi)
    • निष्कर्ष,

टीटी क्या होता है? What is TT in Hindi

TTE यानी Travelling Ticket Examiner. जिसे यात्रा टिकट परीक्षक कहते हैं। इसे ज्यादातर टीटी के रूप में जानते हैं। टीटीई को Ticket checker के नाम से भी जाना जाता है। एक टीटीई का काम रेवले में यात्रा करने वाले यात्रियों की जाँच करना और टिकट चेक करना होता है।

यदि किसी यात्री के पास उचित यात्रा टिकट नहीं होता है तो टीटी उस यात्री पर जुर्माना लगाता है।

टीटीई भारतीय रेलवे के आधार पर एक कर्मचारी होता है और यह विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर पदभार संभालते हैं। एक टीटी काली वर्दी के साथ बैज पहचान पहनता है और यह भारतीय रेलवे ट्रैफिक सेवा कैडर के नियंत्रण में काम करता है।

TTE का Full Form क्या होता है?

  • TTE full form – Travelling Ticket Examiner
  • TTE full form in Hindi – यात्रा टिकट परीक्षक

टीटी कैसे बने? How to Become TTE in Hindi

भारतीय रेलवे प्रत्येक वर्ष युवाओं के लिए टीटीई की नौकरी के लिए अवसर लाती है। यदि आप 10वीं या 12 कक्षा पास करने के बाद रेलवे में TTE की नौकरी हासिल करने चाहते हैं तो आपके लिए इस क्षेत्र में बहुत अच्छा मौका है।

अगर आप टीटी की तैयारी करना चाहते हैं और टीटीई बनना चाहते हैं तो आपको भारतीय रेलवे बोर्ड के अधीन कराई जाने वाली TTE Exam पास करना होगा।

इसके अलावा, रेलवे टीटीई बनने के उम्मीदवार के पास कुछ योग्यता भी होनी चाहिए जिसे पूरा करने के बाद ही अभ्यर्थी आगे की प्रक्रिया में शामिल हो सकता है।

टीटीई बनने के लिए योग्यता (Qualification to Become TTE in Hindi)

टीटीई बनने के लिए उम्मीदवार 12वीं पास होना चाहिए 50% अंकों के साथ। इसके अलावा, Railway TTE पद के लिए अप्लाई करने वाले उम्मीदवार ने डिप्लोमा कोर्स, डिग्री की हो।

साथ ही, टीटी बनने के लिए आवेदन करने वाला भारतीय नागरिक होना चाहिए। यह भी बता दें, अभ्यर्थी किसी भी राज्य से रेलवे टीटीई के लिए आवेदन कर सकता है।

टीटी बनने के लिए आयु सीमा (Age Limit for TT)

रेलवे टीटीई बनने के लिए उम्र 18 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इसके अलावा, OBC वर्ग के लिए 3 वर्ष और SC/ST श्रेणी के उम्मीदवार को 5 वर्ष की छुट दी जाती है। साथ ही, एक्स सर्विसमैन को भी उम्र में छुट दी जाती है।

अगर आपके पास यह सब योग्यता है तो आप रेलवे टीटीई के लिए आवेदन कर सकते हैं।

टीटी बनने के लिए क्या करें? What to do to Become TTE in Hindi

टीटीई बनने के लिए दी जाने वाली परीक्षा के 2 स्टेज होते हैं।

  • लिखित परीक्षा (Written Exam)
  • चिकित्सा परीक्षण (Medical Examination)

Written Exam: यह एग्जाम रेलवे बोर्ड के अधीन आयोजित करवाई जाती है जो रेलवे के द्वारा ऑनलाइन कंप्यूटर के आधार पर होती है। इस एग्जाम में बहुविकल्पीय टाइप के कुल 120 प्रश्न होते हैं। साथ ही, सामान्य जागरूकता, सामान्य बुद्धि, अंकगणित, सामान्य विज्ञान, विचार तार्किक, तकनीकी और रेलवे से संबंधित आदि विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं।

Medial Examination: यदि आप लिखित परीक्षा को पास कर लेते हैं तो आपको चिकित्सा जाँच के लिए बुलाया जाता है जिसमें निर्धारित मापदंडो के अनुसार अभ्यार्थी का परीक्षण किया जाता है।

अगर students लिखित परीक्षा के बाद मेडिकल एग्जाम में भी सफल हो जाता है तो उसे Zonal railway training पास करनी होती है।

Zonal training सफलतापूर्वक पूरी करने के बाद आपको रेलवे बोर्ड द्वारा Travelling Ticket Examiner यानी टीटीई के रूप में चुन लिया जाता है।

टीटी की तैयारी कैसे करें? How to Prepare for TTE in Hindi

टीटीई की तैयारी आपको पाठ्यक्रम के साथ और लक्ष्य पर फोकस करते हुए करनी होगी। इसके अलावा, यदि आप नीचे बताये गये कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखते हैं तो आपको टीटी की तैयारी करने में आसानी होगी।

  1. TTE के पुराने प्रश्न पत्र पढ़ें।
  2. समय सारणी बनाकर पढ़ें।
  3. लक्ष्य बनाकर तैयारी करें।
  4. Coaching ज्वाइन करें।
  5. टीटी एग्जाम की ऑनलाइन /ऑफलाइन दोनों तरह तैयारी करें।
  6. एग्जाम पैटर्न को जानें और सिलेबस के अनुसार टॉपिक पढ़ें।
  7. daily news paper पढ़ें, इससे आपकी पढ़ने में रूचि बनी रहेगी।
  8. अच्छी प्लानिंग के साथ तैयारी करें।
  9. जनरल नॉलेज, Aptitude, math, reasoning, G.K, current affairs आदि सब्जेक्ट पर ज्यादा ध्यान दें।
  10. रेलवे से संबंधित तथ्यों पर हाईलाइट रहें ताकि आप अपने लक्ष्य के प्रति प्रेरित रहें।

अगर आप टीटी की तैयारी करने के टिप्स को फॉलो करते हैं तो आप टीटीई परीक्षा की अच्छे से तैयारी कर सकते हैं।

टीटी का काम क्या होता है? TTE Works, Duties, Responsibilities of TTE in Hindi

रेलवे टीटी का मुख्य काम टिकट चेक करना होता है। इसके अलावा, सामान चेक करना, यात्रियों को उनके आवास पर कब्जा करने के लिए मार्गदर्शन करना, ट्रेन में अवैध/अनधिकृत प्रेवश को रोकना, यात्रियों की सुविधा के लिए अन्य कई छोटे-मोटे काम करने की जिम्मेदारी भी टीटीई की होती है।

इसके अलावा, टीटी यात्रियों को भोजन/जलपान आदि प्रदान करने में भी मदद करता है। यात्री के सामान चोरी होने या खो जाने पर भी टीटीई कदम उठाता है।

साथ ही, ट्रेन को या रेल में सवार यात्रियों को किसी भी प्रकार के नुकसान से दूर रखने की जिम्मेदारी भी टीटी निभाता है।

रेलवे टीटीई के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? How to apply online for Railway TTE in Hindi

भारतीय रेलवे बोर्ड समय के अनुसार टीटीई के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी करता है जिसके लिए इच्छुक उम्मीदवार अप्लाई कर सकता है। आप भी रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं।

याद रखें, निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत रेलवे टीटीई एप्लीकेशन अप्लाई करना होता है। साथ ही, अभ्यर्थी सूचना निर्देशों के अनुरूप अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन या जन्म तिथि डाल कर प्रवेश पत्र का प्रिंट आउट प्राप्त कर सकते हैं जिसमें अभ्यर्थियों को निर्धारित तिथि के अनुसार नियोजित परीक्षा केंद्र पर एग्जाम का आयोजन कराता है।

रेलवे टीटी का वेतन (Railway TTE Salary in Hindi)

रेलवे टीटीई को बहुत अच्छी सैलरी मिलती है फिर भी TTE की सैलरी सातवें वेतन के अनुसार लगभग 5200 से 20,200 per month मिलती है। साथ ही, 1900 ग्रेड पे भी मिलता है।

इसके अलावा, भारतीय रेलवे के द्वारा मुख्य भत्ते भी दिए जाते हैं। इन सभी को देखते हुए हम कह सकते हैं कि, रेलवे टीटी को अच्छा वेतन मिलता है जिससे इसे एक सम्मानजनक जॉब कहा जा सकता है।

निष्कर्ष,

तो दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको रेलवे टीटीई यानी यात्री टिकट परीक्षक के बारे में बताया। जैसे, टीटी क्या होता है, TT कैसे बने? इसके लिए योग्यता, चयन प्रक्रिया, टीटीई के कार्य, टीटी की तैयारी कैसे करें? TTE का full form क्या होता है?

साथ ही, हमने आपको टीटी की सैलरी के बारे में भी बताया। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको TTE के बारे में अच्छी जानकारी मिली होगी। इसके अलावा, यदि अभी भी आपके मन में इससे संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट में बता सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

  • बुलेट ट्रेन क्या है? बुलेट ट्रेन की पूरी जानकारी

अगर आपको इस आर्टिकल में TT कैसे बने? की जानकारी अच्छी लगे तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वे भी रेलवे टीटीई के बारे में जान सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *