आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) कैसे बने?

आईपीएस (IPS) या इंडियन पुलिस सर्विस के बारे में तो आप जानते ही होंगे। आईपीएस भारतीय पुलिस में एक बहुत बड़ा पद है जिसे हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए सिविल सर्विस पेपर क्लियर करना पड़ता है। हर साल लाखों उम्मीदवार इस एग्जाम को पास करने की कोशिश करते हैं लेकिन कुछ ही लोग सफल हो पाते हैं। हाँ, ये थोड़ा कठिन है मगर कड़ी मेहनत करने वालों के लिए नामुमकिन नहीं हैं। अगर आप आईपीएस ऑफिसर बनने की चाहत रखते हैं और IPS kaise bane? IPS Officer kaise bane की जानकारी खोज रहे हैं तो इस आर्टिकल में आपको आईपीएस ऑफिसर कैसे बने? इसकी पूरी जानकारी मिल जाएगी।

IPS Officer kaise bane in Hindi

सरकारी नौकरी का सपना तो हर कोई देखता है लेकिन हर किसी का सपना पूरा नहीं होता। सब सोचते है कि अगर उसकी सरकारी नौकरी होती तो कितना अच्छा होता। सोचें भी क्यों नहीं! क्योंकि Government Job के फायदे ही इतने है। सरकारी नौकरी में ना केवल आपको एक पक्की जॉब, पैसा मिलता है बल्कि पॉवर भी मिलती है। इसके अलावा समाज में आपकी एक अलग छवि बनती है, लोग आपकी इज्जत करते हैं।

जिसके पास सरकारी नौकरी होती है उसके पास पैसे के साथ, नाम और समाज में इज्जत होती है, इसलिए हर कोई चाहता है कि उसकी एक सरकारी नौकरी हो। यदि आप नहीं जानते हैं कि, आईपीएस बनने के लिए कैसे और कौनसी पढ़ाई करनी होती है और किस-किस चीज की जरूरत पड़ती है तो आप सही पोस्ट पढ़ रहे हैं।

इस आर्टिकल में आपको आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) बनने की पूरी जानकारी मिल जाएगी। जैसे आईपीएस के लिए योग्यता, सिलेबस आदि। आईये जानते हैं IPS Officer kaise bane? के बारे में विस्तार से।

विषय-सूची

  • आईपीएस क्या है? (What Is IPS Officer)
  • आईपीएस कैसे बने – How to Become IPS Officer in Hindi
  • आईपीएस शारीरिक योग्यताएं (IPS Physical Requirements)
  • आईपीएस परीक्षा पैटर्न (IPS Exam Pattern)
  • आईपीएस की तैयारी कैसे करे (How to Prepare for IPS Officer)
  • आईपीएस की सैलरी (Salary of IPS)
    • अंतिम शब्द,

आईपीएस क्या है? (What Is IPS Officer)

भारतीय पुलिस सेवा (IPS) भारत सरकार की तीन अखिल भारतीय सेवाओं IRAS (Indian Railways Service), IAS (Indian Administrative Service) में से एक है। IPS की स्थापना वर्ष 1948 में की गयी थी। IPS के लिए कैडर कंट्रोलिंग अथॉरिटी गृह मंत्रालय के पास होते है।

आईपीएस एग्जाम सिविल सेवा परीक्षा का एक भाग होती है जो UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) द्वारा हर साल आयोजित करवाई जाती है प्रशासनिक पदों की नियुक्ति के लिए UPSC कई तरह की Civil Service Exam आयोजित करवाती है जैसे- IPS, IRS, IAS, IFS इस तरह की परीक्षा को क्लियर करने के बाद ही आप Police Officer बन सकते है।

आईपीएस की फुल फॉर्म क्या होती है? (Full Form of  IPS)

  • IPS Full Form In English:- Indian Police Service
  • IPS Full Form In Hindi:- भारतीय पुलिस सेवा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आई.पी.एस का पद भारत की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था में एक उच्च सम्मानित पद है और यह भारतीय पुलिस सेवा भारतीय लोकतंत्र का सबसे बुनियादी आधार है। भारत में एक आईपीएस अधिकारी को कई जिम्मेदारी पूर्ण अधिकार दिए गए है। जिनमें पहले नंबर पर यह जिम्मेदारी है कि उनके अधिकार क्षेत्र में लोग सुरक्षित रहें।

जिले में सभी अधिकारी कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए काम करते रहे। इसके अलावा, आईपीएस अधिकारी कई तरह की जिम्मेदारियां संभालते है, जैसे- अपराधों को रोकना, दुर्घटनाओं को रोकना, आपदा संचालन, अपराधों की जाँच करना आदि।

आईपीएस कैसे बने – How to Become IPS Officer in Hindi

आईपीएस ऑफिसर कैसे बने? इसकी योग्यता, सिलेबस, एग्जाम और सैलरी आदि जानें विस्तार से।

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए आपके अंदर लगन और मेहनत करने का जज्बा होना चाहिए। कुछ उम्मीदवार तो IPS परीक्षा की बात करने से भी डरते है, वे सोचते है की वे तो आईपीएस की परीक्षा को पास कर ही नहीं सकते। लाखों उम्मीदवार इसमें भाग लेते है लेकिन कुछ ही लोग ips exam में सफल हो पाते है। आगे आपको आईपीएस परीक्षा में कौन शामिल हो सकते है इस बारे में विस्तार से बताया गया है।

आईपीएस के लिए शैक्षणिक योग्यता (Qualification for IPS)

यदि आपने किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया है तो आप इस परीक्षा में बैठ सकते है अंतिम वर्ष (Final Year) के छात्र (Student) भी इस परीक्षा में बैठ सकते है।

राष्ट्रीयता (Nationality) 

IPS की परीक्षा में बैठने के लिए आपका भारतीय होना आवश्यक होता है, लेकिन अगर आप भूटान या नेपाल के नागरिक है तब भी आप इस परीक्षा में बैठ सकते है।

आईपीएस के लिए आयु सीमा (Age Limit for IPS)

IPS परीक्षा में बैठने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 21 वर्ष और अधिकतम 35 वर्ष होना जरूरी है।

  • सामान्य वर्ग (General Category) के उम्मीदवार के लिए अधिकतम आयु सीमा 30 वर्ष रखी गई है और प्रयासों की संख्या 4 (Number Of Attempts) है।
  • OBC वर्ग के उम्मीदवारों के लिए अधिकतम आयु सीमा 33 वर्ष रखी गई है और प्रयासों की संख्या (Number Of Attempts) 7 है।
  • SC/ST वर्ग के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा 35 वर्ष रखी गई है और प्रयासों की संख्या असीमित (Number Of Attempts Unlimited) है।

आईपीएस शारीरिक योग्यताएं (IPS Physical Requirements)

आईपीएस की परीक्षा को क्वालीफाई करने के लिए उम्मीदवार के पास निचे बताई गयी शारीरिक योग्यताएं होनी चाहिए है।

आईपीएस के लिए लम्बाई (Male Height for IPS) 

इस परीक्षा को क्वालिफाई करने के लिए पुरूष की लम्बाई 165 सेमी होनी चाहिए, जबकि SC/ST पुरुष उम्मीदवारों के लिए लम्बाई 160 सेमी है।

 Female Height for IPS

जबकि इस परीक्षा को क्वालीफ़ाई करने के लिए महिलाओं की लम्बाई 150 सेमी होना चाहिए, और SC/ST महिला उम्मीदवार के लिए लम्बाई 145 सेमी है।

आईपीएस के लिए छाती (Chest for IPS)

आईपीएस (IPS) के लिए पुरुष उम्मीदवारों की छाती कम से कम 84 सेमी होनी चाहिए। वही महिला उम्मीदवारों के लिए छाती 79 सेमी है।

नेत्र द्रष्टि (Eye Sight)

स्वस्थ आँखों का विजन 6/6 या 6/9 होना चाहिए और कमजोर आँखों का विजन 6/12 और 6/9 होना चाहिए।

आईपीएस परीक्षा पैटर्न (IPS Exam Pattern)

जैसे की हमने आपको बताया था कि, IPS Exam UPSC के द्वारा आयोजित करवाई जाती है, UPSC दो भागों में IPS की परीक्षा लेती है जो की इस प्रकार है।

1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रारंभिक परीक्षा में ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्न पूछे जाते है, इस एग्जाम में 2 पेपर होते है और दोनों ही पेपर 200-200 अंकों के होते है इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप मुख्य परीक्षा (Main Exam) में बैठ सकते है। प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों में सेट किए जाते है हालांकि, अंग्रेजी भाषा की Comprehension Skills से सम्बन्धित प्रश्न केवल अंग्रेजी में प्रदान किये जायेंगें। प्रत्येक पेपर के लिए नेत्रहीन (Blind) उम्मीदवारों को 20 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा।

2. मुख्य परीक्षा (Main Exam)

मुख्य परीक्षा प्रारंभिक परीक्षा से जटिल होती है इसमें लिखित परीक्षा के साथ ही साक्षात्कार (Interview) भी लिया जाता है। मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते है। जिन्हें दो भागों में विभाजित किया गया है, क्वालीफाइंग पेपर और मेरिट पेपर के रूप में।

  • क्वालीफाइंग पेपर- इसमें 2 पेपर होते है (1st And 2nd Paper) दोनों पेपर 300-300 अंकों के होते है, इसके अंक चयन के समय नहीं जोड़े जाते है।
  • मेरिट पेपर – इसमें 7 पेपर होते है, सभी 250-250 अंकों के होते है, यानी सभी पेपर कुल 1750 अंकों के होते है।

3. साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा को क्लियर करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, इंटरव्यू एक पेनल के द्वारा लिया जाता है जिसकी अवधि तक़रीबन 40 से 45 मिनट की होती है। इंटरव्यू क्लियर करने के बाद ही आपको IPS की Training पर भेजा जाता है और उम्मीदवार के कुछ वेरिफिकेश करने के बाद उसे पोस्ट पर नियुक्ति कर दिया जाता है।

आईपीएस की तैयारी कैसे करे (How to Prepare for IPS Officer)

IPS की तैयारी के लिए लगन और इच्छा शक्ति के अलावा समय भी देना पढ़ता है। अगर आपने IPS बनने का मन बना ही लिया है तो आप 8 से 10 घंटे की पढ़ाई के लिए तैयार हो जाइये।

अब आप सोच रहे होंगे कि IPS Officer बनने के लिए क्या करना चाहिए? तो केवल किताबी ज्ञान से ही आप यह परीक्षा पास नहीं कर सकते। आपको हमेशा करेंट अफेयर्स और सामान्य ज्ञान से अपडेट रहना पड़ेगा। अपने GA और GK को बढ़ाने के लिए आपको रोजाना न्यूज़ पेपर पढना पढ़ेगा, इसके साथ ही आप रोजाना टीवी न्यूज़ देख कर भी अपना ज्ञान बढ़ा सकते है।

इसके अलावा, राजनीति, खेल जगत, विज्ञान, और देश-दुनिया में चल रही गतिविधियों पर ध्यान लगाये रखे, IPS के Subject की तैयारी अच्छे से करे और आईपीएस सिलेबस (IPS Syllabus) को ध्यान में रख कर तैयारी करे।

निचे दिए गए इन विषयों पर अधिक ध्यान दे:-

  • आर्थिक और सामाजिक विकास (सस्टेनेबल डेवलपमेंट, गरीबी, जनसंख्या)
  • भारतीय इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन,
  • भारत और विश्व का भूगोल
  • पर्यावरण पारिस्थितिकी (एनवायरमेंट इकोलॉजी)
  • जैव विविधता (बायो-डायसिर्टी)
  • क्लाइमेट चेंज और जनरल साइंस
  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय करंट अफेयर्स
  • भारतीय राजतंत्र और गवर्नर (संविधान, पॉलिटिकल सिस्टम, पंचायती राज, पब्लिक पॉलिसी)

जी हाँ सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाये, किसी के सामने या स्टेज पर बोलने की डेरिंग बढ़ाये, बेहिचक बोलिए, पॉइंट को पकड़कर बोलिये कीवर्ड का प्रयोग न करें। आज तक जितने भी लोग “यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा” पास हुए है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा लोग पहले “यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा” में फेल हो चुके है, या फिर उसके बाद वे पास हुए है। इसलिए आत्मविश्वास और धेर्य के साथ आगे बढ़ें।

आईपीएस की सैलरी (Salary of IPS)

यह सवाल तो आपके दिमाग में बार-बार आता होगा कि, आईपीएस ऑफिसर का वेतन/सैलरी क्या होता है? तो हम आपको बता दें, आईपीएस की सैलरी पद के हिसाब से अलग-अलग होती है जो इस प्रकार से है।

  • Deputy Superintendent Of Police – 15,600-39,100 (Grade Pay Of 5,400)
  • Additional Superintendent Of Police – 15,600-39,000 (Grade Pay 6,600)
  • Superintendent Of Police – 15,600-39,000 (Grade Pay 7,600)
  • Senior Superintendent of Police – 15,600-39,000 (Grade Pay 8,700)
  • Deputy Inspector General Of Police – 37,400-67,0000 (Grade Pay 8,900)
  • Inspector General Of Police/Joint Commissioner Of Police – 37,400-67,000 (Grade Pay 10,000)
  • Additional Director General Of Police -37,400-67,000 (GradePay 12,000)
  • Director General Of Police – 80,000 (No Grade Payment)

ये थी आईपीएस ऑफिसर कैसे बने? की जानकारी। हमें उम्मीद हैं आपको सबकुछ सही से समझ आ गया होगा और आपको आईपीएस बनने के फायदे और एक आईपीएस की सैलरी कितनी होती है यह भी पता चल गया होगा।

अंतिम शब्द,

अगर आपने IPS बनने की ठान ली है तो पूरी लगन के साथ मेहनत करें क्योंकि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती। आज नहीं तो कल आपकी मेहनत रंग लाएगी और एक दिन ऐसा भी आएगा जब आपको सफलता मिल जाएगी। बस आत्मविश्वास, हौसला ना टूटने दें।

इस आर्टिकल में हमने आपको आईपीएस ऑफिसर बनने के बारे में बताया। अगर आईपीएस से संबंधित आपका कोई सवाल या आपको इसके बारे में कोई और जानकारी चाहिए तो कमेंट में बताए।

यह भी पढ़ें:

  • RTO Officer कैसे बने? पूरी जानकारी

अगर आपको IPS Officer Kaise Bane? की जानकारी हेल्पफुल लगे तो सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि आपकी वजह से किसी और को भी आईपीएस ऑफिसर की जानकारी मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *